प्रज्ञा ने एक बार फिर गोडसे को देशभक्त कहा

New Delhi: बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा हो रही थी। इस दौरान भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे को देशभक्त कह दिया। जिसके बाद कांग्रेस ने इसका खूब विरोध किया। अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाली भाजपा सांसद ने लोकसभा में एक और बड़ा विवादित बयान दे दिया है।

कांग्रेस के कई सदस्यों ने आपत्ति जताई और यह आरोप लगाते हुए सुने गए कि उन्हें (प्रज्ञा) को प्रधानमंत्री का संरक्षण मिला हुआ है।

दरअसल हुआ यह कि ,’ द्रमुक सदस्य ए राजा ने चर्चा में भाग लेते हुए नकारात्मक मानसिकता को लेकर गोडसे का उदाहरण दिया तो प्रज्ञा अपने स्थान पर खड़ी हो गईं और कहा कि ‘देशभक्तों का उदाहरण मत दीजिए’।

आपको मालूम हो कि,’लोकसभा चुनाव के ठीक पहले प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त कहा था’। बाद में पीएम मोदी ने कहा था कि ,’मैं उन्हें कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा’।

उस दौरान भी विपक्ष ने प्रज्ञा के इस बयान कली आलोचना की थी जिसके बाद भाजपा ने खुद को इस बयान से किनारा कर लिया था। बाद में भाजपा ने उनके खिलाफ कारण बताओं नोटिस भी जारी किया था। हालाँकि बाद में वह चुनाव भी जीत गईं , और उन्हें चुनाव जीतते ही कारण बताओं नोटिस का क्या हुआ? कुछ पता नहीं।