प्रदूषण को लगातार बढ़ रहा स्तर, DU के नॉर्थ कैम्पस में कराया गया पानी का छिड़काव

New Delhi: पिछले कई दिनों से दिल्ली में प्रदूषण की वजह से हालात बेहद खराब बने हुए हैं। दिवाली के अगले दिन दिल्ली की हवा बेहद खराब रही। ज्यादातर हिस्से स्मॉग की चादर में लिपटे नजर आए। ऐसा ही मौसम आज सुबह भी रहा। राजपथ पर जहां सुबह धुंध के कारण विजिबिलिटी कम रही, वहीं लोधी गार्डन में इलके कारण लोगों को मास्क लगाकर सुबह वॉक करने निकलना पड़ा।

बात अगर दिल्ली के सबसे प्रदूषण वाली जगह यानी आनंद विहार की करें, तो आनंद विहार का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 585 दर्ज किया गया जबकि आरके पुरम में 343 AQI रहा। इसके अलावा, दिल्ली कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक स्तर पर हैं। जिसके चलते उत्तरी दिल्ली नगर निगम (NDMC) ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए ‘डस्ट’ को व्यवस्थित करने के लिए डीयू के नॉर्थ कैम्पस के आसपास के इलाकों में पेड़ों पर पानी का छिड़काव किया।

आपको बता दें कि डीयू में पीएम 10 और पीएम 2.5 ‘गंभीर’ श्रेणी में है। दिवाली के त्योहार के दिल्ली की हवा इतनी जहरीली हो गई हैं कि लोगों को दम घुटना शुरू हो गया है। वहीं त्योहार के दूसरे दिन भी यानी आज भी दिल्ली और एनसीआर में स्मॉग और प्रदूषण का स्तर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। आज सुबह भी दिल्ली-एनसीआर स्मॉग की मोटी चादर में लिपटा हुआ था।

वहीं बात अगर 8 नवंबर यानी दिवाली के अगले दिन की करें तो दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता सबसे ज्यादा कल सुबह खराब रही। बुधवार को दिवाली में पटाखे फोड़ने के कारण कल सुबह का एक्यूआई काफी ज्यादा रहा। इस कड़ी में सबसे ज्यादा खराब स्थिति वजीरपुर के दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ टूल इंजीनियरिंग में रही, जहां एक्यूआई 663 दर्ज किया गया। इस कड़ी में दिल्ली सरकार ने प्रदूषण की लगाम लगाने के लिए आईटीओ, आनंद विहार, रोहिणी, द्वारका, रिंग रोड समेत कई इलाकों में पानी का छिड़काव किया गया।