हाथरस जा रहे TMC MP को पुलिस ने जमीन पर पटका, महिला नेता का आरोप- हमारे ब्लाऊज फाड़े

New Delhi : हाथरस प्रकरण पर राजनीतिक बवेला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन हाथरस में पीड़ित परिजनों से मिलने के लिये निकल पड़े लेकिन उन्हें यूपी पुलिस ने गांव पहुंचने से पहले ही रोक दिया। यही नहीं राज्यसभा सांसद के साथ भी धक्का मुक्की की गई और कल जैसे राहुल गांधी गिरे थे ठीक उसी तरह वे भी जमीन पर लोट गये। एक महिला सांसद ने आरोप लगाया कि पुलिस ने मेरी ब्लाऊज फाड़ दी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी हाथरस प्रकरण पर सरकार के रवैये पर सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने कहा है कि हमलोग लोकतंत्र में रहते हैं, यहां कोई राजा नहीं है, सभी सेवक हैं, इस बात को समझना होगा।

वैसे बापू जयंती पर जगह जगह प्रार्थना सभाओं के साथ-साथ हाथरस प्रकरण को लेकर प्रदर्शन भी हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ता हर जिले में योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन का आयोजन कर रहे हैं। इस मसले को लेकर आज शाम इंडिया गेट पर भीम सेना चीफ चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण के आह्वान पर एक विरोध मार्च निकाला जाना है, लेकिन इससे पहले ही दिल्ली पुलिस ने धारा 144 लागू कर दिया है। ऐसे में ऐसी उम्मीद है कि प्रदर्शन रैली इंडिया गेट पर तो नहीं हो पायेगी। पुलिस मामले को लेकर पूरी तरह से मुस्तैद है।
तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने पीड़ित परिवार के पास पहुंचने की कोशिश की। पुलिस ने उन्हें गांव के बाहर रोक दिया। इस दौरान धक्कामुक्की में सांसद डेरेक ओ ब्रायन सड़क पर गिर पड़े तो टीएमसी की महिला सांसद प्रतिमा मंडल और ममता ठाकुर ने ब्लाउज फाड़े जाने का आरोप लगाया है। तृणमूल कांग्रेस पार्टी की नेता ममता ठाकुर ने कहा- हम पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने हमें नहीं जाने दिया। महिला पुलिसकर्मियों ने हमारे ब्लाउज को खींचा और सांसद प्रतिमा मंडल पर लाठी भी चलाई। वह गिर पड़ीं। पुरुष पुलिसकर्मियों ने उन्हें छुआ। यह शर्मनाक है।

हाथरस के पीड़ित परिवार को न्याय देने की बजाय उन्हें लगातार घर में नजरबंद किया हुआ है। उन्हें डराया और धमकाया जा रहा है।…

Priyanka Gandhi Vadra यांनी वर पोस्ट केले शुक्रवार, २ ऑक्टोबर, २०२०

इस पूरे प्रकरण पर प्रियंका गांधी ने कहा- हाथरस के पीड़ित परिवार को न्याय देने की बजाय उन्हें लगातार घर में नजरबंद किया हुआ है। उन्हें डराया जा रहा है। फोन तक छीन लिये गये हैं। परिवार के बच्चे ने ताऊ से मारपीट का आरोप भी लगाया है। मीडिया और तमाम लोगों को अंदर जाने से रोका जा रहा है। इस सरकार को पता नहीं है कि जितना दबाओगे, इंसाफ की आवाज उतनी ही बुलंद होगी। हम सड़कों पर पीड़ित परिवार के इंसाफ की लड़ाई जारी रखेंगे।

इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजघाट पर बापू को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुये कहा- महात्मा गांधी ने ऐसे ‘आत्मनिर्भर भारत’ का सपना देखा था, जहां हर गांव आत्मनिर्भर हो। उनके जीवन और विचारों से बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ nine = fourteen