सुषमा स्वराज की शोक सभा में पीएम मोदी ने कहा उनके भाषण बहुत प्रेरणादायक होते थे

 New Delhi : पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की श्रद्धांज’लि सभा आयोजित की गई। उनकी श्रद्धांज’लि सभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सुषमा जी अपने विचारधारा में बहुत मजबूत थी और उन्होंने भी उनके प्रति प्रतिबद्ध रहने की कोशिश की। पूर्व विदेश मंत्री के भाषण को याद करते हुए पीएम ने कहा कि उनके भाषण न केवल प्रभावी थे, बल्कि बहुत प्रेरणादायक भी थे।

आपको बता दें कि सुषमा स्वराज की श्रद्धांजलि सभा में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत पक्ष-विपक्ष के कई नेता मौजूद रहे। यह श्रद्धांजलि सभा जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में की गई। इस शोक सभा के दौरान मंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और मौजूद सभी लोगों ने  2 मिनट का मौन रखा।

बता दें कि सुषमा स्वराज लंबे अर्से से बी’मा’र चल रही थीं और उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। बी’मा’री की वजह से ही उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा। 2014 में सुषमा स्वराज को विदेश मंत्रालय का प्रभार मिला था। बीजेपी के शासन के दौरान सुषमा दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रही थीं। 67 साल की आयु में 6 अगस्त, 2019 की रात 11.24 बजे के करीब उनका दिल्ली में नि’धन हो गया।

सात बार सांसद और तीन बार विधायक रह चुकी सुषमा स्वराज की शालीनता, सक्रियता, भाषण शैली उनको दूसरे नेताओं से अलग बनाती थी। सुषमा स्वराज एक प्रभावी पार्लियामेंटेरियन और कुशल प्रशासक थीं। अपने 42 साल के राजनीतिक करियर में वे छह राज्यों में सक्रिय रही थीं। साल 1977 में महज 25 साल की उम्र में वह कैबिनेट मंत्री बनी थीं। उस वक्त वह सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री थीं। सुषमा के राजनीतिक गुरु लाल कृष्ण आडवाणी रहे थे।

सुषमा स्वराज साल 2009 में भारतीय जनता पार्टी द्वारा संसद में विपक्ष की नेता चुनी गयी थीं। इस नाते वे भारत की पन्द्रहवीं लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता रही हैं