प्रधानमंत्री को चाहिए कि वो अपने मुंहफट नेता पर लगाम लगाएं-मौलाना महमूद मदनी

New Delhi : जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने प्रधानमंत्री मोदी को नसीहत दी है।मदनी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को चाहिए कि वो अपने मुंहफट नेता पर लगाम लगाएं। भारत में मदरसों को मुख्यधारा की शिक्षा से जोड़ने के केंद्र के फैसले की योजना पर बात करते हुए उन्होंने ये बात रखी।हालांकि उन्होंने सरकार के इस फैसले की सराहना की है।

उन्होंने कहा कि मदरसों के लिए सरकार इस कदम को सरकार सकारात्मक ढंग से लेगी ।

मदनी ने प्रधानमंत्री को नसीहत देते हुए कहा, “प्रधानमंत्री को चाहिए कि वो बीजेपी के मुंहफट नेताओं को रोकें जो कुछ भी बयान दे देते हैं।लोगों के बीच विश्वास बनाने के लिए यह जरूरी भी है। पीएम को उन नेताओं को रोकना चाहिए जो उत्तेजित हो जाते हैं और लोगों के खिलाफ कुछ भी बोल देते हैं उनपर कार्रवाही करनी चाहिए।”

मदनी ने कहा, “हम उम्मीद करते हैं कि नए भारत के निर्माण में, मुस्लिमों का भी योगदान अहम साबित होगा। यह केवल तभी मुमकिन है जब शिक्षा से उनकी क्षमता को निखारा जाए। यदि इसे लागू किया जाता है तो यह सच में ‘सबका साथ सबका विकास’।

उन्होंने कहा, “देश के लाभ के लिए, समाज के सभी वर्गों को समान अवसर प्रदान किए जाने चाहिए, विशेष रूप से शिक्षा में। हम इस तरह की पहल का हमेशा स्वागत करेंगे।कांग्रेस और भाजपा सरकारों की तुलना करना सही नहीं होगा, लेकिन पिछले 70 वर्षों में केवल दिखावा किया गया है। संदेह पैदा होता है, लेकिन अगर यह सरकार इसे सच कर देती है, तो यह समुदाय के लिए अच्छा होगा।

नकवी द्वारा मंगलवार को घोषित औपचारिक शिक्षा और मुख्यधारा की शिक्षा से जुड़े होने के बाद मुस्लिम समुदाय से सकारात्मक प्रतिक्रियाएं आई हैं ताकि वहां पढ़ने वाले बच्चे भी समाज के विकास में योगदान दे सकें। ”

नकवी ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए कहा था “देश भर के मदरसा शिक्षकों को विभिन्न संस्थानों से हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, कंप्यूटर आदि विषयों में प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि वे मदरसा छात्रों को मुख्यधारा की शिक्षा से जोड़ सकें। यह कार्यक्रम अगले महीने शुरू किया जाएगा।”।