PM Modi की सलाह – मैं वर्षों से गर्म पानी पी रहा हूं, आप भी पीयें

New Delhi : Corona Virus के बढ़ते संक्रमण के बीच केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने इससे बचाव को लेकर कई अहम सुझाव जारी किए हैं। PM Narendra Modi ने बुधवार को आयुष मंत्रालय के प्रोटोकॉल को शेयर किया। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लोगों से इसे अपने जीवन का हिस्सा बनाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा – स्वस्थ रहने पर ध्यान केंद्रित रखें। आखिरकार, अच्छा स्वास्थ्य खुशी का अग्रदूत है।
बुधवार को ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा – आयुष मंत्रालय ने बेहतर स्वास्थ्य और इम्यूनिटी के लिए कुछ दिशानिर्देश दिए हैं। ये ऐसे उपाय हैं, जो आसानी से किए जा सकते हैं। कई तो ऐसी बातें हैं, जो मैं वर्षों से कर रहा हूं, जैसे सालभर सिर्फ गर्म पानी पीना। आप इन्हें अपने जीवन का हिस्सा बनाएं, साथ ही दूसरों के साथ भी साझा करें। आयुष मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए इस रोग से लड़ने और स्वास्थ्य देखभाल के लिए कई प्रकार के सलाह जारी किए हैं।
आयुष मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि ये सलाह कोविड-19 के इलाज के लिए नहीं, बल्कि बचाव के लिए हैं। आयुष मंत्रालय ने कहा – आयुर्वेदिक साहित्य और वैज्ञानिक पत्र-पत्रिकाओं पर आधारित यह सिफारिश की गई है। आयुष मंत्रालय की ओर से बताए गए सामान्य उपाय में पूरे दिन गर्म पानी पीने, प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास, खाना पकाने में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों के उपयोग की सलाह दी गई है।
रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए देश के प्रख्यात वैद्यों ने कहा – प्रतिदिन सुबह 1 चम्मच यानी 10 ग्राम च्यवनप्राश लें। मधुमेह रोगियों को शुगर-फ्री च्यवनप्राश लेना चाहिए। तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सौंठ और मुनक्का से बना काढ़ा दिन में एक या दो बार लें। यदि आवश्यक हो तो अपने स्वाद के अनुसार गुड़ या ताजा नींबू का रस मिलाएं। वैद्यों ने गोल्डन मिल्क यानी 150 मिली गर्म दूध में आधी चम्मच हल्दी पाउडर- दिन में एक या दो बार पीने की सलाह दी है।
सूखी खांसी और गले में खराश हो तो ताजे पुदीना के पत्तों या अजवाइन के साथ दिन में एक बार भाप लिया जा सकता है। खांसी या गले में जलन होने पर लवंग (लौंग) पाउडर को गुड़ या शहद के साथ मिलाकर दिन में 2 से 3 बार लिया जा सकता है। ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी और गले में खराश का इलाज करते हैं। लेकिन लक्षण के बरकरार रहने पर डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty six − = 79