राम मंदिर पर पीएम मोदी का बयान, कहा देश के सभी नागरिक सुप्रिम कोर्ट के फैसले का करें इंतजार

New Delhi : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज महाराष्ट्र के नासिक में ” महाजनादेश यात्रा” को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं देख रहा हूं कि पिछले दो-तीन सप्ताह से कुछ बयान बहादुर लोग राम मंदिर को लेकर अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। देश के सभी नागरिकों का सुप्रीम कोर्ट के प्रति सम्मान बहुत जरूरी है।

पीएम ने राम मंदिर मुद्दे पर आगे कहा कि जब मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा हो, तब ये बयान बहादुर कहां से आ गए। हमारा अपनी न्याय प्रणाली और संविधान पर भरोसा होना चाहिए। मैं देशभर में बयान बहादुरों से हाथ जोड़कर विनती करता हूं कि प्रभु श्रीराम के खातिर भारत की न्याय प्रणाली के प्रति अपनी श्रद्धा रखें।

नासिक में महाजनादेश यात्रा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि महाराष्ट्र की इस धरती ने वीर सावरकर जी जैसे महान सपूत को जन्म दिया है, स्वतंत्रता के लिए हर यातना को मुस्कुरा कर सहने वाले सावरकर जी ने हमे राष्ट्रवाद के अभूतपूर्व संस्कार दिए हैं। उन्होंने आगे कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने स्वराज्य का संकल्प लेकर मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना सबकुछ न्यौछावर करने का आदर्श हमारे सामने रखा था।

रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब लोकसभा का चुनाव हुआ, तो 60 साल के बाद पहली बार एक सरकार दोबारा चुनकर आई और पहले से ज्यादा बहुमत के साथ चुनकर आई। जब आप ताकत देते हैं तो सरकार कैसे काम करती है, हमारी सरकार के प्रथम 100 दिन का कार्यकाल इसका उदाहरण है।

महाराष्ट्र में विपक्ष पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ये दुर्भाग्य है कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता गलत बयान दे रहे हैं। उन्हें पड़ोसी देश अच्छा लगता है। वहां के शासक-प्रशासक उनको कल्याणकारी लगते हैं। लेकिन पूरा महाराष्ट्र, पूरा भारत जानता है और पूरी दुनिया जानती है कि आतंक की फैक्ट्री कहां पर है।