ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से बोले PM— आपने बहुत कुछ सहा है, हमे एक साथ नया कश्मीर बनाना है

New Delhi: कश्मीरी पंडितों के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की, इसी के साथ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का अनुच्छेद 370 को खत्म करने के लिए धन्यवाद भी किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने माना कि 1989-90 में हुए उग्रवाद के चलते अपने पूर्वजों की मातृभूमि से पलायन के बाद उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा आपने बहुत कुछ सहा है, लेकिन दुनिया बदल रही है। हमें एक साथ आगे बढ़ना है और एक नया कश्मीर बनाना है। कश्मीरी पंडितों से अपनी मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि मैंने ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों के साथ एक खास बातचीत की।

एक शख्स ने 7 लाख कश्मीरी पंडितों की तरफ से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के लिए मोदी का धन्यवाद करते हुए उनका हाथ चूमा। कश्मीरी समुदाय का प्रतिनिधित्व कर रहे सुरेंद्र कौल ने कहा कि हमने उनको आश्वासन दिया कि हमारा समुदाय कश्मीर के लिए आपके उस सपने को पूरा करने के लिए सरकार के साथ काम करेगा जो शांतिपूर्ण है, विकास से भरा है और जहां सभी लोग खुश हैं।

समूह ने एक शांतिपूर्ण और समृद्ध कश्मीर के निर्माण में अपने समुदाय के प्रधानमंत्री को पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया। कश्मीरी पंडितों के इस समूह ने प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन प्रस्तुत किया, जिसमें प्रधानमंत्री से अनुरोध किया है कि वे एक टास्क फोर्स या सलाहकार परिषद की स्थापना करने को अनुरोध किया जो कश्मीरी पंडितों को इस क्षेत्र में वापस लाने और उनके विकास पर काम करेगा।

इसमें कहा ​गया कि समुदाय के लोग सतत विकास के लिए भारत सरकार नए बने केंद्र शासित प्रदेशों के साथ काम करने के लिए तत्पर है। कौल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमसे कहा है कि आपने एक साथ बहुत कुछ झेला है, हमे नया कश्मीर बनाना है। मैंने समुदाय की ओर से एक ज्ञापन प्रस्तुत किया। उन्होंने सहर्ष इसे स्वीकार किया।

एक दूसरे कश्मीरी पंडित राकेश कौल ने कहा, जब हमने अनुच्छेद 370 की बात की तो उन्होंने कहा कि एक नई हवा है और हम एक नया कश्मीर बनाएंगे। हमे प्रधानमंत्री से उम्मीद है कि हम उनके साथ काम करेंगे और कश्मीर को फिर से स्वर्ग बनाएंगे।