PM मोदी ने जाना क्षेत्र का हाल, कहा – गमछा तो काशी के रग-रग में बसा है, मास्क क्यों? गमछा ही बांधें

New Delhi : PM Narendra Modi अपनी तमाम व्यस्तताओं के बावजूद अपने संसदीय क्षेत्र काशी को नहीं भूले हैं। गुरुवार को उन्‍होंने फोन कर अपनी काशी का हालचाल लिया। PM Modi ने वाराणसी के विधायकों, जिलाध्‍यक्ष और महानगर अध्‍यक्ष से फोन पर लॉकडाउन स्थिति के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्‍होंने कहा- आप लोग मास्‍क पर पैसा मत खर्च कीजिए। अपने यहां यूपी में गमछा लगाते हैं ना तो गमछा से मुंह बांधकर घर से बाहर निकलिए।

बीजेपी जिलाध्‍यक्ष हंसराज विश्‍वकर्मा से सबसे पहले फोन पर बात करते हुए PM Modi ने उनके परिवार का हाल जाना और पूछा कि काशी में कैसी स्थिति है। इस पर जिलाध्‍यक्ष ने कहा कि वे लोगों के लिए मास्‍क बनवा रहे हैं। इस पर प्रधानमंत्री ने उन्हें टोकते हुए कहा कि मास्‍क बनवाने के चक्‍कर में क्‍यों पड़े हैं। बिना कारण खर्च करने की जरूरत नहीं है। मास्‍क डॉक्‍टर और स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों के लिए जरूरी है। बनारस में तो गमछा होता है उसी से मुंह बांधकर चल सकते हैं जो कि काशी की रग-रग में बसा है।
सेवापुरी विधायक नीलरतन पटेल ‘नीलू’ से बात करते हुए PM Modi ने कहा कि सभी कार्यकर्ता इस संकट की घड़ी में घर पर ही रहें और यथासंभव लोगों की मदद करते रहें। सेवा में कोई कमी न रहने पाए और सभी लोग अपने मोबाइल पर आरोग्यम ऐप डाउनलोड करें। पीएम मोदी ने उम्मीद जताई कि कोरोना पर देश को जल्द ही विजय मिलेगी। PM Modi ने काशी के अन्य विधायकों और मंत्रियों से भी बारी-बारी से फोन कर हालचाल लिया।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का का एकमात्र तरीका है कि व्यक्ति अपने नाक और मुंह को ढककर रखें। ऐसे में जरूरी नहीं कि हर कोई मास्क का ही प्रयोग करें, वो गमछा या गमछा से अपना बचाव कर सकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने काशी के नेताओं से बातचीत करते हुए यूपी की पहचान के तौर पर गमछे के इस्तेमाल पर जोर दिया। पीएम मोदी का कहना है कि ग्रामीणों के लिए गमछा या अंगोछा कोई नई चीज नहीं है। वे इसका इस्तेमाल हमेशा से करते आए हैं। ऐसे में उन्हें मास्क के बजाए गमछा या अंगोछा का इस्तेमाल करने को कहें, क्योंकि गमछा या अंगोछा यहां की रग-रग में बसा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गमछा स्टाइल

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच योगी सरकार ने राज्य के सबसे ज्यादा प्रभावित वाले 15 जिलों के 104 हॉट स्पॉट को पूरी तरह से सील कर दिया है। इस दौरान आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी और कर्फ्यू जैसा माहौल रहेगा। ऐसे में वाराणसी में चार जगहों को कोरोना हॉटस्पॉट के चलते प्रशासन ने सील कर दिया है। जिन जगहों को सील किया गया है उसमें मदनपुरा, बजरडीहा, लोहता और गंगापुर के नाम शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty one − 76 =