पीएम मोदी का राहुल पर वार, ‘नामदार’ और ‘कामदार’ के बीच लड़ाई, जनता करेगी फैसला

NEW DELHI: Rajasthan Vidhan Sabha Election 2018 के मतदान 7 दिसंबर 2018 को डाले जाने हैं। जिसके चलते राजनीति पार्टियां जनता को तमाम लुभावने वादे कर अपनी ओर आर्कषित करने की कोशिश कर रही हैं। इस कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार की कमान संभाली हुई हैं। राजस्थान के नागौर में पीएम मोदी रैली को संबोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी ने भाषण को शुरू करते हुए महात्मा ज्योतिबा फुले को याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी की सरकार कहीं भी हो चाहे दिल्ली में या राजस्थान में, हमारी सरकार का एक ही मंत्र होता हैं- सबका साथ, सबका विकास

 elections

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास की यह प्रेरणा हमें बाबा साहब आंबेडकर से मिली हैं। राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि आज एक कामदार की लडाई एक नामदार से हैं, जो जिंदगी आप गुजार रहे हैं, वहीं जिदंगी मैं भी गुजार रहा हूं। पीएम मोदी ने कहा कि अमीरों के पास बीमारी के इलाज के लिए तो बहुत ऑप्शन है, लेकिन हमारे गरीब भाईयों का क्या… ये बात सोने की चमक लेकर पैदा हुए लोग कैसे समझ पाएंगे।

भाषण को आगे बढ़ाते हुए पीएम मोदी ने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि जो मूंग और मसूढ़ में फर्क नहीं समझते है, वो आज किसान भाईयों को किसानी करना सिखा रहे हैं। मोदी ने कहा कि मैं यहां आपसे अपने पोते-पोतियों के विकास के लिए नहीं बल्कि आपके सपने को साकार करने के लिए वोट मांगने आया हूं। इससे आगे मोदी ने कहा कि राजस्थान के लोगों को अगर पानी मिल जाए तो वह मिट्टी में से सोना निकाल सकते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे को बधाई देता हूं कि उन्होंने 1 लाख हेक्टेयर भूमि तक पानी पहुंचाया है। वहीं 1 करोड़ 25 लाख घरों की चाबी हमारे माताओं और बहनों को सौंपी हैं। मोदी ने कहा कि ये याद रखिए कि मोदी सिर्फ और सिर्फ आपके लिए काम कर रहा है। हमारी सरकार ने लोगों को पक्का घर, घर में नल और नल में जल, गैस कनेक्शन और बिजली दी हैं। लोगों के विकास के ये सारे काम हमने नहीं ब्लकि आपके वोट ने किए है।

पीएम मोदी ने कहा कि नामदार को तो पता ही नहीं कि लकड़ी का चूल्हा कैसे जलता हैं, मोदी को पता हैं क्योंकि उसने बचपन से अपनी मां को धुंए में चूल्हा जलाते हुए देखा हैं। लेकिन आज आपके वोट से राजस्थान में 50 लाख माताओं और बहनों को धुएं से छुटकारा मिल गया। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस राज में भष्ट्राचार इस हद तक था कि जो बेटी पैदा ही नहीं हुई वह विधवा हो जाती थी और हर महीने उसके नाम से विधवा पेंशन का चेक कट जाता था।