क्रिकेट में एक बार फिर सामने आई सट्टेबाजी, BCCI ने शुरु कर दी है मामले की जांच

New Delhi: क्रिकेट में ना जाने कितने ही किस्से हैं जिनमें सट्टेबाजी का वाकया समाया हुआ है। बात घरेलु सीरीज की हो या फिर किसी बड़े अंतर्राषट्रीय टूर्नामेंट की, सबने सट्टेबाजी का दंश झेला है। एक बार फिर अब भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के सामने सट्टेबाजी का जिन्न आ गया है। तमिलनाडु प्रीमियर लीग में कुछ खिलाड़ियों को बुकी के मैसेज आए हैं जिनकी शिकायत BCCI एंटी करप्शन यूनिट से की गई है।

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार तमिलनाडु प्रीमियर लीग में खेलने वाली टीमों के कुछ खिलाड़ियों को वाट्सएप अनजान लोगों ने मैसेज भेजे हैं। इस बात की शिकायत खिलाड़ियों ने बीसीसीआई के एंटी करप्शन यूनिट को की जिसके बाद बीसीसीआई हरकत में आ गई। मामले की जांच शुरु कर दी गई है। खबर के अनुसार इस मामले में एंटी करप्‍शन यूनिट एक भारतीय खिलाड़ी, आईपीएल (IPL) में नियमित खिलाड़ी और एक रणजी ट्रॉफी कोच के खिलाफ जांच कर रही है। उनके ऊपर तमिलनाडु प्रीमियर लीग (Tamil Nadu Premier League) में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार करने का आरोप है।

BCCI एंटी करप्शन यूनिट के चीफ अजीत सिंह ने बताया कि हमारे सामने कुछ मामले आए हैं जिनमें खिलाड़ियों से सट्टेबाजों ने संपर्क किए हैं। उन्होंने कहा मामले में पूछताछ जारी है कि खिलाड़ियों से कब और किस समय संपर्क साधा गया। अजीत सिंह ने कहा कि हालांकि अभी तक टीम के मालि‌कों से पूछताछ नहीं की गई है। खबर के अनुसार जांचकर्ताओं को इसमें शामिल लोगों के बीच धन के बंटवारे को लेकर हुए विवाद से भनक लगी थी। एंटी करप्‍शन यूनिट इस मामले में कानूनी मदद ले रही है और आने वाले दिनों में पुलिस में एफआईआर भी दर्ज करा सकती है।