सोनू सूद के साथ पेप्सीको की बड़ी डील, कोरोना अवेयरनेस में लेगी सुपरमैन इमेज की मदद

New Delhi : कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच मुंबई में प्रवासी मजदूरों के लिये मसीहा बने सोनू सूद से सब मदद के लिये आगे बढ़ रहे हैं। सोनू सूद के साथ दिग्गज कोल्ड ड्रिंक्स ब्रैंड पेप्सीको ने एक इंस्टाग्राम कैंपेन के लिए समझौता किया है। यह कैंपेन कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए आपस में बिना संपर्क में आए अभिवादन करने और फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने से जुड़ा होगा। सोनू सूद के इंस्टाग्राम पर 32 लाख फॉलोअर्स हैं।

यह कैंपेन इंस्टाग्राम के अलावा अन्य प्लेटफॉर्म पर भी ले जाया जा सकता है, हालांकि फिलहाल इसके बारे में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है। पेप्सिको के एक प्रवक्ता ने इस समझौते की पुष्टि की है। प्रवक्ता ने कहा- सोनू सूद के साथ इस कैंपेन के अलावा कई और काम करने की योजना है। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान भी कोका कोला के लिए इसी तरह का कैंपेन कर चुके हैं। पेप्सी के लिए विज्ञापन करने वालों में बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ और दिशा पाटनी शामिल हैं।

हाल यह है कि अब नेता भी बेबसी जताने लगे हैं और सोनू सूद से मदद मांग रहे हैं। इसी बेबसी में मध्य प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी के रीवा विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र शुक्ला ने मदद मांगी। उन्होंने 35 मजदूरों की लिस्ट के साथ सोनू सूद से मदद मांगी और कहा आप ही आखिरी आसरा हो।
पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ला ने ट्वीट किया – ये 35 लोग मध्यप्रदेश के सतना के रीवा के रहनेवाले हैं और मुम्बई में फंसे हुये हैं। अभी तक वापस नहीं पहुंच पाये हैं। कृपया इनको वापस लाने मे हमारी मदद् करें।

मंगलवार 2 जून की रात में सोनू सूद ने इस ट‍्वीट का जवाब देते हुये लिखा – Sir, अब कोई भाई कहीं नहीं फँसेगा। आपके प्रवासी भाई कल आपके पास भेज देंगे सर। कभी MP आया तो पोहा ज़रूर खिलाना।
इसके जवाब में विधायक व पूर्व मंत्री ने लिखा – धन्यवाद सोनू सूद जी, विन्ध्य की पावन भूमि में आपका हमेशा स्वागत है। मुम्बई में अभी बचे हुए 168 में से करीब 55 लोगों को भिजवा दिया गया है, करीब 113 लोग बचे हुए हैं जिन्हें सकुशलता से भिजवाने के लिए मैं आपको अग्रिम धन्यवाद व भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूँ।

 

बहरहाल कांग्रेस नेता अलका लांबा ने इसे शर्मनाक बताया है। अलका लांबा ने भाजपा विधायक के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा- आंखों पर यकीन नहीं होता कि जो खुद विधायक और पूर्व में मंत्री भी रहा, मध्यप्रदेश और देश में इन्हीं की सरकार है, मुख्यमंत्री/प्रधानमंत्री इन्हीं की पार्टी के हैं, महाराष्ट्र में भी इनके सांसद और विधायक हैं, फिर भी मदद सोनू सूद से मांग रहे हैं, थोड़ी भी शर्म हो तो इस्तीफ़ा देकर घर बैठ जाओ, बेहतर होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + = 27