योगी का निर्देश : अगस्त तक राज्य के गन्ना किसानों की पूरी बकाया राशि का हो भुगतान

New Delhi: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को राज्य में एक बड़ा ऐलान किया। योगी ने निर्देश दिया कि चीनी मील मालिक अगस्त तक गन्ना किसानों की पूरी बकाया राशि भुगतान कर दें। लोक भवन में चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान अधिकारियों को ये निर्देश दिए।  योगी ने कहा कि भुगतान के लिए जो भी जरुरी कदम हैं उसे जल्द से जल्द से उठाई जाए। प्रदेश की सभी चीनी मिलों को संचालित कराने का भी निर्देश दिया। अभी प्रदेश में 119 चीनी मिलें चल रही हैं। अगले वर्ष तीन चीनी मिलें और चल जाएंगी। जिससे उत्तर प्रदेश में 122 चीनी मिलें हो जाएंगी।

‘अगले पेराई सत्र में चीनी मीलों का सुचारु रूप से संचालन हो पाए इसके लिए अभी से मीलों का मरम्त कार्य शुरू हो’, योगी ने आगे कहा। योगी ने गन्ना विभाग को एक निधि बनाने का भी निर्देश दिया। इसके तहत प्रति क्विंटल गन्ना पर सेस लगाकर जमा धनराशि को गन्ना किसानों के कल्याण व सुविधाओं पर खर्च किया जाएगा। इस धनराशि से चीनी मिलों के बाहर विश्रामालय, पेयजल आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

योगी के मुताबिक़ गन्ना मूल्य का भुगतान पिछले दो वर्षों से बहुत अच्छा हुआ है। पिछले दो वर्षों में 68,828 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। इसे और बेहतर करने की जरुरत है। एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मिलों पर किसानों की बकाया रकम 10343.94 करोड़ रुपये है। फिलहाल यह पेराई सत्र समाप्त हो चुका है।एक तरफ सरकार तो यह दावा कर रही है कि गन्ने का भुगतान ठीक से हो रहा है। लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। इतना ज्यादा बकाया होने के कारण किसानों का चीनी मील मालिकों से मोहभंग हो गया है। वह औने-पौने दाम में अपना गन्ना, गुड़ प्लांट पर बेच देते हैं।