शिक्षको पर ला’ठीचार्ज: वो पुलवामा की तरह कुछ नया करते रहेंगे और वोट ले जाएंगे- पप्पू यादव

NEW DELHI: बिहार में एक बार फिर शिक्षक और शिक्षा व्यवस्था चर्चा में है। कल पटना के गर्दनीबाग के हड़ताली मोड़ के पास बिहार भर के विभिन्न शिक्षक संगठनों के बैनर तले ‘समान काम समान वेतन’ की मांग पर शिक्षकों ने वि’रोध-प्रद’र्शन और विधानसभा घेराव की कोशिश की। लेकिन जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने प्रद’र्शनकारी शिक्षकों पर लाठीचार्ज शुरु कर दिया। इसपर जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और पूर्व सांसद Pappu Yadav ने पुलिस की आलोचना करते हुए सरकार पर ह’मला किया है।

पप्पू यादव ने कहा- ‘पुलिस पानी के कैनन का इस्तेमाल कर सकती थी, शिक्षकों को कानून का इस्तेमाल कर गिरफ्तार कर सकती थी, लेकिन उन्होंने उन पर ला’ठीचार्ज कर दिया, महिलाएं घायल हो गईं। वे हर 4-5 महीने में पुलवामा की तरह कुछ नया करते रहेंगे, और उन्हें वोट मिलते रहेंगे।’

बाढ़ से म’रने वालों संख्या हुई 90, 29 लोग अब भी लापता: नेपाल गृह मंत्रालय

विधानसभा के पास वि’रोध कर रहे संविदा शिक्षकों पर आंसू गैस और पानी के कैनन का इस्तेमाल कर पुलिस ने गुरुवार को ला’ठीचार्ज किया।
बिहार के संविदा शिक्षक समन्वय समिति ने राज्य के विभिन्न सरकारी स्कूलों में कार्यरत नियमित स्थायी शिक्षकों के बराबर वेतन की मांग को लेकर विरो’ध प्रद’र्शन किया था।

प्रदर्श’नकारी शिक्षकों ने पथराव किया, उन्होंने गर्दनीबाग वि’रोध क्षेत्र के मुख्य द्वार को भी तो’ड़ दिया।

बीते मई महीने में माननीय सुप्रीट कोर्ट ने शिक्षकों और बिहार सरकार के बीच समान काम समान वेतन के केस में शिक्षकों के खिलाफ अपना फैसला सुनाया था। मामले में शिक्षकों ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन दायर की है। पर मौजूदा हालात देखकर किसी भी साकारात्मक फैसले की उम्मीद बेमानी है।