पाक ईसाईयों ने मानवाधिकार उल्लंघन पर UN के बाहर पाकिस्तान के खिलाफ किया प्रदर्शन

New Delhi : दुनियाभर में कश्मीर पर मानवाधिकार का राग अलापने वाले पाकिस्तान की लगातार उसके ही नागरिक पोल खोल रहे हैं। मानवाधिकार की बात करने वाले पाकिस्तान को उसके देश के अल्पसंख्यक लगातार आईना दिखा रहें हैं। शनिवार को भी पाकिस्तानी ईसाईयों ने स्विट्जरलैंड में अल्पसंख्यको को प्रताड़ित और उनके अधिकारो के उल्लंघन करने पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया।

पाकिस्तानी ईसाइयों ने मानवाधिकार के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायोग के कार्यालय के मुख्यालय पालिस विल्सन से विरोध मार्च निकाला और इसे संयुक्त राष्ट्र कार्यालय जिनेवा में समाप्त कर दिया। अपने इस प्रदर्शन में अल्पसंख्यकों ने पाक में समान अधिकार की मांग की और ईशनिंदा कानून और जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

आपको बता दें पाकिस्तान में अल्संख्यको हिन्दू ,मुस्लिमो पर हो रहे मानवाधिकार के उल्लंघन की घटनायें दुनिया के सामने आ रही है। यह घटनाये अधिकार सिंध ,बलूचिस्तान और पाक अधिकृत कश्मीर हो रही है। पाकिस्तान के तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के पूर्व विधायक (MLA) बलदेव कुमार ने पाकिस्तान के इस अत्याचार का खुलासा किया है। बलदेव कुमार ने बताया कि पाकिस्तान में सिर्फ अल्पसंख्यक ही नहीं बल्कि मुस्लिम भी सु’रक्षित नहीं हैं, हम पाकिस्तान में बहुत ही मु’श्किलों के साथ जिं’दा र​ह रहे हैं। मैं भारत सरकार से अनुरोध करता हूं कि वह मुझे यहां शरण दे। मैं वापस नहीं जाउंगा।

इससे पहले बलूचिस्तान में पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा किये जा रहे अत्याचार को रोकने के लिये विश्व बलूच संगठन (डब्ल्यूबीओ) भी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मदद की मांगकर चुके हैं। बलूच संगठन ने संयुक्त राज्य अमेरिका में एक विज्ञापन अभियान शुरू कर डोनाल्ड ट्रंप से आग्रह किया है।