हमारा बिहार : बिस्कुट चुराने के आरोप में बच्चे को पोल में बांधकर पीटा, ठंड में रात भर पाेल से बंधा रहा नाबालिग

New Delhi : बिहार के नालंदा ज़िले के हिसुआ में एक पैकेट बिस्कुट चाेरी करने का आरोप लगाकर 10 साल के एक बच्चे काेबिजली के पाेल से बांधकर पीटा गया। हद ताे तब हाे गई जब बच्चे काे रात भर ठंड में ही पोल में बांधे रखा गया। पूरी घटना का वीडियाेवायरल हाे गया। घटना हिसुआ के मिल्की गांव की है। सूचना मिलने के बाद भी पुलिस रात में नहीं पहुंची।

सुबह में पंचायत बैठी तो दो पक्षों में सुलह कराई गई। जिसने चोरी का आरोप लगाकर पीटा, उसे फटकार लगाई गई और बच्चे के पिताको अनुशासन में रखने की नसीहत दी गई। मिल्की निवासी भत्तू चौहान की दुकान में चाेरी के आराेप में करणा बेलदारी गांव के बच्चे कीपिटाई की गई। देर शाम बालक के घर नहीं लौटने पर परिजनों ने खोज शुरू की। बच्चे के मिल्की में होने की सूचना पर पिता चांदोचौहान ने भतू से बच्चे को छोड़ देने की गुहार लगाई, लेकिन उसने उल्टे पुलिस को सूचना दे दी।ग्रामीणों का कहना है कि गांव में भत्तूचौहान की किराना दुकान में पड़ोस के गांव का एक बच्चा चोरी की नीयत से घुस गया था। उसने एक पैकेट बिस्किट चुरा लिया। इसीदौरान दुकानदार ने उसे पकड़ लिया। पहले बच्चे की पिटाई कर दी, फिर बिजली के पोल में बांध दिया। उधर, घर नहीं पहुंचने पर बच्चेके स्वजन उसकी खोजबीन करने लगे। इसी क्रम में पिता को जानकारी मिली कि बच्चे को चोरी के आरोप में मिल्की सैदपुर गांव मेंबंधक बनाया गया है। पिता रात में ही वहां पहुंचे और बेटे को छोड़ देने की गुहार लगाई, लेकिन दुकानदार ने छोड़ने के बजाय पुलिस कोसूचना दे दी। रात ज्यादा होने नक्सल प्रभावित इलाका बताकर पुलिस ने पहुंचने से इन्कार कर दिया। सुबह होने पर जमादार विशालयादव दलबल के साथ गांव पहुंचे। पुलिस के पहुंचने के पहले ग्राम कचहरी सरपंच के नेतृत्व में पंचायत बैठ चुकी थी। पंचायत के बादबच्चे के स्वजन से बतौर जुर्माना सात पैकेट बिस्किट का पैसा वसूलकर मुक्त कर दिया गया। उधर, पुलिस ने पिता को बच्चे पर निगरानीरखने की हिदायत दी। पुलिस ने दोनों पक्षों से सुलहनामे पर हस्ताक्षर सरपंच का हस्ताक्षर कराकर कागजात को अपने पास रखलिया। दुकानदार को बालक की पिटाई करने और बंधक बनाने पर कड़ी फटकार लगाई।