मुंबई आतंकी हमले की 11वीं बरसी, राष्ट्रपति कोविंद ने शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि

New Delhi: मुंबई आतंकी हमले की 11वीं बरसी पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हमले में शहीद हुए जवानों को याद किया है। देश को हिला देने वाली इस घटना में हादसे के शिकार हुए लोगों के प्रति भी अपनी संवेदना राष्ट्रपति ने वयक्त की है। राष्ट्रपति ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए शहीदों और लोगों को अपनी श्रद्धांजलि दी है।

हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में ट्वीट कर राष्ट्रपति ने दुख जताया है। उन्होंने लिखा है कि मुंबई आतंकी हमलों की 11वीं बरसी पर, हम सभी संतप्त व्यक्तियों और परिवारों को याद करते हैं। एक कृतज्ञ राष्ट्र उन सुरक्षाकर्मियों को सलाम करता है जिन्होंने सर्वोच्च बलिदान दिया। हमारा यह दृढ़ संकल्प है कि हम हर प्रकार के आतंकवाद को परास्त करेंगे।

26/11 की घटना को देश का सबसे बड़ा आतंकी हमला माना जाता है। 26 नवंबर 2008 को मुंबई के ताज होटल में हुए आतंकवादी हमले ने देशवासियों को झकझोर कर रखा दिया था। जैश ए मोहम्‍मद के दस आतंकी समुद्र के रास्‍ते मुंबई में दाखिल होकर देश में आतंक मचाया था।

आतंकियों ने छत्रपति शिवाजी टर्मिनल, नरीमन हाउस, ताज और ऑबरॉय होटल को निशाना बनाया गया था। इस पूरे आतंकवादी हमले में कई जवानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर बड़ी संख्या में लोगों को बचाने का प्रयास किया था।

एएसआई तुकाराम ओंबले सहित कई पुलिसकर्मी शहीद हुए थे। इस पूरे हमले के दौरान आतंकवादी अजमल कसाब को जीवित पकड़ा गया था। 21 नवंबर, 2012 को पुणे की यरवदा जेल में कसाब को फांसी दे दी गई थी। कसाब को पकड़ने वाले संजय गोविलकर को राष्‍ट्रपति के पुलिस पदक से नवाजा गया था।