महाराष्ट्र ने भी मंजूर किया नौकरी और शिक्षा में 10% आरक्षण, बना देश का चौथा राज्य

New Delhi: केंद्र सरकार के द्वारा गरीब वर्ग के लोगों को सरकारी नौकरियों और शिक्षा में केंद्र सरकार द्वारा दिए गए 10% आरक्षण को मंजूरी दे दी थी। तो अब महाराष्ट्र आरक्षण देने वाला देश का चौथा राज्य बन गया है। सरकार ने राज्य की जनता को ख़ास सौगात दी है और जिसके बाद लोकसभा में इसका असर देखने को मिल सकता है।

 

महाराष्ट्र ने मंजूर किया आरक्षण

केंद्र सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को आरक्षण की मंजूरी दी थी। वहीं उत्तर प्रदेश, गुजरात, हिमांचल के बाद अब महाराष्ट्र ने भी आरक्षण को मंजूरी दे दी है। बता दें कि, महाराष्ट्र सरकार ने भी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए सरकारी नौकरियों और शिक्षा में केंद्र सरकार द्वारा दिए गए 10% आरक्षण को मंजूरी दे दी। वहीं अब इन तीन राज्यों के बाद महाराष्ट्र ने आरक्षण को मंजूरी देने वाला देश का चौथा राज्य बन गया है।

आरक्षण का आकड़ा

अगर हम मौजूदा समय की बात करें तो मौजूद समय में आरक्षण 49.5 फीसदी आरक्षण की सीमा के ऊपर है। भारत में अभी तक 49.5 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था थी, लेकिन अब 10 फीसदी आर्थिक आरक्षण को मिलाकर 59.5 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था हो गई है. ध्यान रहे कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक, कोई भी राज्य 50 प्रतिशत से ज्यादा जातिगत आरक्षण नहीं दे सकता. (अपवाद, तमिलनाडु में 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण है) आरक्षण की मौजूदा व्यवस्था के तहत देश में अनुसूचित जाति के लिए 15 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति के लिए 7.5 प्रतिशत, अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण है।

आरक्षण के बाद भाजपा की 19 में होगी और बड़ी जीत

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने बड़ा दांव खेलते हुए देश की जनता को सौगात दी। आर्थिक रूप से गरीब लोगों को 10% आरक्षण की मंजूरी दिए जाने के बाद अब केंद्रीय मंत्री बयान दिया है। राम विलास पासवान ने कहा कि, आरक्षण की मंजूरी दिए जाने के बाद अब पार्टी की 2019 लोकसभा में और बड़ी जीत होने वाली है। वह कहते हैं कि, अब पार्टी को 10 % अधिक वोट मिलेंगे। बता दें केंद्र सरकार के आदेश और दोनों सदनों में आरक्षण बिल पास होने के बाद अब गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण देने वाला देश का पहला राज्य गुजरात बन गया है। आज सीएम विजय रुपानी ने यह एलान किया और कहा की लोगों को नौकरी और शिक्षा दोनों जगहों पर ग़रीबों को 10 % आरक्षण दिया जायेगा।