मेघालय खदान: हाई पावर पंप की मदद से निकाले जाएंगे मजदूर,वायुसेना ने तैनात किया विशेष एयरक्राफ्ट

New Delhi: मेघालय खदान हादसे को 15 दिन हो गया है, लेकिन अभी तक मजदूरों का कोई पता नहीं चल सका है। हालांकि रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और जवान खदान के अंदर जाने का प्रयास लगातार कर रहे हैं। लेकिन खदान में पानी अत्यधिक भर जाने से रेस्क्यू करने वाले जवान खदान के भीतर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

तो वहीं अब वायुसेना ने स्पेशल विमान तैनात किया है। साथ ही सभी को हाई स्पीड पंप भी लगाया गया है जिसकी मदद से मजदूरों को बाहर निकाला जाएगा।

हाई स्पीड पंप की मदद से निकाले जाएंगे मजदूर

मेघालय खदान हादसे को करीब 15 दिन होने वाले हैं। लेकिन अभी तक मजदूरों का कुछ पता नहीं चल सका है। वहीं अब खदान में फंसे मजदूरों को हाई स्पीड पंप की मदद से बाहर निकाला जायेगा। वहीं बीते दिनों यह भी कहा गया कि, खदान में कई दिनों तक जिंदगी से जूझने के बाद दम तोड़ चुके हैं। अधिकारीयों ने खदान में दुर्गंध की बात भी कही थी। लेकिन अभी तक रेस्क्यू टीम खदान के अंदर नहीं पहुंच सकी है जिससे यह पुष्टि हो की मजदूरों के साथ कोई घटना हुई है। हालांकि अब इन मजदूरों को निकालने के लिए हाई पंप लाया गया है जिसकी मदद से मजदूरों को बाहर निकाला जाएगा।

15 दिनों से जिंदगी की जंग से लड़ रहे मदजूर

मेघालय कोयला खदान हादसे को 13 दिन से अधिक हो गया है। लेकिन अभी भी खदान में फंसे 13 मजदूरों का कुछ पता नहीं चल सका है। वहीं अब यह चौंकाने वाली खबर सामने आई है। एनडीआरएफ के जवानों का कहना है कि दुर्गंध इस बात का संकेत हैं कि खनिकों की जान चाकी गई है और उनके शवों ने सड़ना शुरू कर दिया है। ऐसे में अगर मजदूरों की जान जाती है तो इससे यह साबित हो जाएगा कि, आख़िरकार सेना के जवान लोगों को बचा पाने में कामयाब नहीं हुए हैं। हालांकि अभी इस बात की आधिकारिक पुष्टि नहीं की जा सकी है जिससे यह साबित होगा कि, खदान में फंसे मजदूर जीवन की जंग में हर गए और जवान असफल रहे। बहरहाल खदान के अंदर से आ रही दुर्गंध इस दुखद खबर की ओर संकेत कर रही है।

कोयला खदान में फंसे मजदूरों को लेकर राहुल का पीएम मोदी पर हमला

जाहिर है पिछले दिनों मेघालय की एक कोयला खदान में जमीन धंसने से 15 मजदूर उसमे फंस गए थे। इस हादसे के 10 दिनों से अधिक बीत जाने के बाद भी अभी तक रेस्क्यू टीम मजदूरों को बाहर नहीं निकाल सकी है। इस मामले को लेकर अब राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोला है। राहुल ने कहा, ‘पानी से भरी कोयले की खदान में पिछले दो हफ्ते से 15 खनिक सांस लेने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री बोगिबील सेतु पर कैमरों के सामने पोज़ देते हुए तस्वीरें खिंचवा रहे हैं।