इटली में शवों को दफनाने की जगह नहीं, चर्च में जमा कर रहे ताबूत, 45 Dr की मौत

New Delhi : इटली में कोरोना वायरस संक्रमण से हालात इतने बदतर हो गये हैं कि वहां अब शवों को दफनाने की भी जगह नहीं बची है। कब्रगाह में जगह नहीं होने की वजह से इटली के चर्चों में शवों को रखा जा रहा है। वहां डाक्टरों और नर्सिंग स्टॉफों के पास संसाधनों का अत्यधिक अभाव होता जा रहा है। किसी तरह डाक्टर इलाज तो कर रहे हैं लेकिन परिणाम बेहद डरावने हैं। संसाधनों के अभाव में इलाज करने की वजह से डाक्टर भी बेहद आसानी से संक्रमण के शिकार हो जा रहे हैं।
इटली के डॉक्टर एसोसिएशन ने शुक्रवार शाम बताया – कोरोना संक्रमण से अब तक 45 डॉक्टरों की भी मौत हुई है। संगठन के अध्यक्ष फिलिपो एनेली ने कहा – कोरोना के खिलाफ जंग जारी है। इसमें हमारे 45 डॉक्टरों की भी मौत हुई है।
इटली में अब तक कोरोना के 80,589 मामले सामने आ चुके हैं और 8,215 लोगों की जान गई है। इटली के नागरिक सुरक्षा विभाग के निदेशक अगोस्टिनो मिओजो ने पिछले 48 घंटे में देश में 4,492 नए मामलों की पुष्टि की है। इनमें से 33,648 आइसोलेशन में हैं और 3,612 को आईसीयू में रखा गया है। वहीं, 24,753 संक्रमितों को अस्पताल के साधारण वार्ड में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक अब तक 10,361 लोग पूरी तरह से ठीक हुए हैं। इटली में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 21 फरवरी को सामने आया था।

इधर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री Boris Johnson और स्वास्थ्य मंत्री Matt Hancock शुक्रवार को Corona Virus से संक्रमित हो गए। बुधवार को प्रिंस चार्ल्स में भी संक्रमण की पुष्टि हुई थी। PM Boris Johnson ने शुक्रवार को ट्वीट कर अपने संक्रमित होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुझमें संक्रमण के लक्षण थे। जांच पॉजिटिव आने के बाद मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं। उन्होंने कहा कि मैं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए काम करता रहूंगा। ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है ब्रिटेन का पूरा कैबिनेट ही कोरोना के संक्रमण का शिकार हो गया है।
बहरहाल सभी 195 देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं। 5 लाख 40 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 24 हजार 594 लोगों की मौत हो चुकी है। एक लाख 25 हजार से ज्यादा मरीज ठीक भी हुए हैं। ब्रिटेन के अलावा स्पेन में भी संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां 64 हजार 59 लोग संक्रमित हैं और 4 हजार 900 मौतें हो चुकी हैं। पिछले 24 घंटे में संक्रमण की वजह से 769 लोगों की मौत हुई है।
अमेरिका में शुक्रवार शाम तक कुल 85,612 मामले सामने आए। 1,301 पीड़ितों की मौत हो चुकी है। इटली में 41 स्वास्थ्यकर्मियों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। 5000 से ज्यादा डॉक्टर, नर्स, तकनीशियन और एंबुलेंस कर्मचारी संक्रमित हैं। यहां अब तक कोरोना के 80,589 मामले सामने आ चुके हैं और 8,215 लोगों की जान गई है।
इधर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बात की। उन्होंने अमेरिका को मदद की पेशकश की। जिनपिंग ने ट्रम्प को वायरस से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने और साथ मिलकर काम करने का सुझाव भी दिया।
ऑस्ट्रेलिया में कोरोना रोकथाम के लिए नए नियम बनाए गए हैं। प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नेशनल कैबिनेट ने संक्रमण रोकने के लिए नए नियमों को मंजूरी दे दी है। यह शनिवार आधी रात से लागू होंगे। उन्होंने कहा कि कॉम्युनिटी आउटब्रेक रोकने के लिए न्यू साउथ वेल्स और विक्टोरिया में नए प्रतिबंध लगाने की जरूरत होगी। अब विदेश से लौटने वाले लोगों को 14 दिनों तक होटलों में क्वारैंटाइन किया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने इसी सप्ताह देश में दूसरे चरण के लॉकडाउन की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty two − = fifty two