अमित शाह के डिनर में जाने से पहले नीतीश कुमार ने कहा- कश्मीर से धारा 370 नहीं हटाई जानी चाहिए

NEW DELHI: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से मंगलवार रात को आयोजित रात्रिभोज में शामिल होने से पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि धारा 370 नहीं हटाई जानी चाहिए, साथ ही यूनिफॉर्म सिविल कोड भी लागू नहीं किया जाना चाहिए। नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि बिहार को विशेष दर्जा दिया जाना चाहिए। जेडीयू अध्यक्ष ने पटना में मंगलवार को मीडिया से कहा, “हम अब भी बिहार को विशेष दर्जा दिलाने के पक्ष में हैं। यह मुद्दा हमारे लिए बहुत अहम है।

नीतीश कुमार ने अनुच्छेद 370 हटाने की भारतीय जनता पार्टी की मांग को लेकर मतभेद के बारे में कहा, “इसमें कोई अंतर्विरोध नहीं है। हमने हमेशा यही कहा है कि अनुच्छेद 370 को नहीं हटाया जाना चाहिए, यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू नहीं किया जाना चाहिए, अयोध्या विवाद को आपसी सहमति/अदालत के हस्तक्षेप के जरिए सुलझाया जाना चाहिए। हमने बीजेपी के साथ जब गठजोड़ किया था, तभी से हम इन बातों पर कायम हैं

नीतीश कुमार ने कहा कि बीजेपी उनका रुख जानती है लेकिन दोनों दलों के बीच कोई मतभेद नहीं है। नीतीश ने लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत पर भी पूरा भरोसा जताया। उन्होंने ईवीएम पर सवाल उठाने का भी विरोध किया और कहा कि ईवीएम तब से उपयोग की जा रही है जब से एनडीए सत्ता में भी नहीं थी और कई पार्टियों ने इसे माना भी है। नीतीश कुमार ने कहा, ‘एनडीए की सरकार बनेगी। पहले फेज से ही लोगों में यह आम धारणा है।’ बिहार को स्पेशल स्टेटस के सवाल पर उन्होंने कहा कि बिहार के दोनों सदनों में स्पेशल स्टेटस की मांग मान ली गई है। 14वें वित्त आयोग में अगर कोई क्लॉज है तो 15वें वित्त आयोग में बदलाव की हम मांग करते हैं।