राष्ट्रगान के दौरान बैठे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दवाई के स्ट्रांग डोज़ के कारण आया चक्कर

New Delhi : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री Nitin Gadkari एक कार्यक्रम में राष्ट्रगान के दौरान बैठ गए। महाराष्ट्र के सोलापुर में अहिल्यादेवी होलकर विश्वविद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रगान बजाया जा रहा था। तभी गडकरी चक्कर आने के कारण गिर पड़े और राष्ट्रगान के दौरान बैठ गए। गडकरी के अचानक बैठने की वजह बताते हुए उनके सहयोगी ने कहा कि उनके गले में संक्रमण के कारण डॉक्टरों ने उन्हें दवाई का स्ट्रांग डोज़ दे दिया था। जिसके गडकरी की तबियत बिगड़ गई और बैठ गए। समारोह में गडकरी विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए थे।

गडकरी के सहयोगी ने आगे कहा कि “डॉक्टरों ने हमें उसके स्वास्थ्य के बारे में चिंता नहीं करने के लिए कहा है। वह अपना दौरा जारी रखेंगे और आज शाम को पुणे में एक समारोह में भाग लेंगे।” यह पहली बार नहीं है जब भाजपा नेता सार्वजनिक कार्यक्रमों के दौरान मंच पर बेहोश हुए हैं। बता दें कि इसके पहले अप्रैल महीने में चुनाव प्रचार के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की शिरड़ी में सार्वजनिक मंच के दौरान तबियत बिगड़ गई थी। जनसभा में मंच पर ही संबोधन के दौरान उन्हें चक्कर आ गया लेकिन वहां मौजूद लोगों ने उनको संभाल लिया। गडकरी तब शिवसेना उम्‍मीदवार सदाशिव लोखंडे के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे।

वहीं, इसके पहले भी गडकरी की तबियत राष्ट्रगान के दौरान बिगड़ गई थी। दिसंबर 2018 में महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक दीक्षांत समारोह में भी उनको चक्कर आ गया था। महात्मा फूले कृषि कॉलेज में आयोजित दीक्षांत समारोह में तब महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर ने उनको संभाला था। गौरतलब है कि 2011 में टाइप-2 डायबिटीज के इलाज के लिए केंद्रीय मंत्री ने गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी करवाई थी। गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी पेट के साइज को छोटा कर देता है। जिसके कारण खाने पर कंट्रोल करना होता है।