PNB घोटाला : नीरव मोदी को ब्रिटेन की एक अदालत ने 17 अक्टूबर तक हिरासत में भेजा

New Delhi : भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी, लगभग 2 अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धो’खाधड़ी और मनी लॉ’न्ड्रिंग के मा’मले में ब्रिटेन की एक अदालत ने 17 अक्टूबर तक न्यायिक हिरा’सत में भेजा है।

आपको बता दें कि इससे पहले वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में 13 सितंबर को 48 वर्षीय नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले में नियमित कॉल-ओवर सुनवाई की थी। उस समय न्यायाधीश तन इकराम की अध्यक्षता में हुई सुनवाई में नीरव मोदी को बताया था कि उनकी सुनवाई की तारीखों की पुष्टि अगले कॉल-ओवर सुनवाई में 19 सितंबर को होगी। और आज सुनवाई करते हुए कोर्ट ने नीरव मोदी को 19 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

नीरव मोदी को 19 मार्च को गिर’फ्तार किया गया था। वह बैंक में उकाउंट खुलवाने के लिए गया हुआ था ।बैंक के ही एक कर्मी उसकी सूचना पुलिस को दी जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। नीरव मोदी को मेजेस्टी की वैंड्सवर्थ जे’ल में रखा गया था, जो पश्चिमी यूरोप की सबसे बड़ी जे’लों में से एक है।

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने नीरव मोदी को तीन बार जमानत देने से इन्कार कर दिया गया है। वहां के न्यायाधीश ने यह भी फैसला सुनाया था कि उसके प्रत्यर्पण को लेकर जोखिम भी है। बता दें कि भारत जल्द से जल्द नीरव मोदी का प्रत्यर्पण चाहता है जिसके लिए वह लगातार ब्रिटेन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है।नीरव मोदी ने पीएनबी बैंक को हजारों करोड़ का चूना लगाया था जिसके चलते यह बैंक वित्तीय संकट में फंस गया था।