नेपाल के विदेश मंत्री ने कहा कश्मीर के हालत पर है हमारी नजर, उम्मीद है वहां शांति बनी रहेगी

New Delhi : नेपाल के विदेश मामलों के मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली ने सोमवार को जम्मू कश्मीर पर मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि हम जम्मू और कश्मीर के घटनाक्रमों को करीब से देख रहे हैं। हम काफी आशावादी और आशान्वित हैं कि राज्य में शांति और स्थिरता रहेगी। ग्यावली ने आगे मीडिया से को बताया कि हम चाहते हैं कि वहां शांति बनी रहे। सदस्य देशों में कोई भी विवाद, शांतिपूर्ण संवाद के जरिए सुलझाया जा सकता है। हमें विश्वास है कि इस क्षेत्र में शांति और सौहार्द कायम रहेगा और किसी भी तरह का नकारात्मक प्रभाव नहीं होगा।

यह बयान ऐसे समय पर आया है जब विदेश मंत्री एस. जयशंकर द्विपक्षीय संबंधों की समग्र स्थिति की समीक्षा करने के उद्देश्य से ‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की पांचवीं बैठक में हिस्सा लेने इस सप्ताह नेपाल पहुंचेंगे। नेपाल के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि बैठक 21-22 अगस्त को काठमांडू में होगी।

बैठक की सह-अध्यक्षता नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली करेंगे। दोनों नेता द्विपक्षीय साझेदारी की संपूर्ण स्थिति की समीक्षा करेंगे। इसमें कनेक्टिविटी, व्यापार, अर्थव्यवस्था, संस्कृति, शक्ति और शिक्षा के क्षेत्र शामिल हैं। नेपाली विदेश मंत्रालय ने रविवार को कहा कि संयुक्त आयोग की बैठक में सहयोग के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि कनेक्टिविटी और आर्थिक साझेदारी, व्यापार और पारगमन, बिजली और जल संसाधन क्षेत्रों, संस्कृति, शिक्षा और आपसी हित के अन्य मामलों की समीक्षा की जाएगी।

संयुक्त आयोग को जून 1987 में स्थापित किया गया था। यह दोनों पड़ोसी देशों को सभी क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा करने और पारंपरिक रूप से घनिष्ठ संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक राजनीतिक मार्गदर्शन प्रदान करने का अवसर प्रदान करता है। आयोग की अंतिम बैठक अक्टूबर 2016 में नई दिल्ली में आयोजित की गई थी। जयशंकर अपने प्रवास के दौरान नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली से मुलाकात करेंगे।