अगर भाजपा तोड़- फोड़ पर उतर आई तो हम भी उसका जवाब देंगे: नवाब मलिक

New Delhi: महाराष्ट्र में चार दिन से सियासी घमासान बढ़ता ही जा रहा है। देश की सर्वोच्च अदालत महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट कराने की मांग पर मंगलवार सुबह 10:30 बजे फैसला सुनाएगी। इससे पहले मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में शिवसेना- कांग्रेस और एनसीपी विधायक इकट्ठा हुए और इस दौरान विधायकों ने एकजुटता दिखाते हुए पार्टी के प्रति ईमानदार रहने और भाजपा का समर्थन न करने की कसम खाई। इस कार्यक्रम के बाद एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि अगर भाजपा तो’ड़- फो’ड़ पर उतर आई तो हम भी उसका जवाब देंगे।

मलिक ने कहा, ‘भाजपा के पास अभी भी अपना सम्मान बचाने का मौका है। अगर भाजपा तोड़- फोड़ पर उतर आई तो हम भी उसका जवाब देंगे। अजित पवार हमारी पार्टी का हिस्सा हैं, वह पवार परिवार का हिस्सा हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि वह एनसीपी में वापस आए और अपनी गलती स्वीकार करें।’

बता दें कि शक्ति प्रदर्शन में 162 विधायकों में एनसीपी अधयक्ष शरद पवार, उनकी बेटी सुप्रिया सुले, छगन भुजबल, शिवसेना अध्यक्ष उध्दव ठाकरे, बेटे आदित्य ठाकरे, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक चव्हाण जैसे नेता मौजूद थे। इस दौरान शरद पवार ने चुनौतीभरे लहजे में कहा कि यह महाराष्ट्र है, मणिपुर और गोवा नहीं। फ्लोर टेस्ट के दिन मैं 162 से ज्यादा विधायक लेकर आऊंगा।

मुंबई वापस लौटे NCP विधायक अनिल पाटिल ने कहा- शरद पवार ने हमें वापस लाए जाने का दिया था आश्वासन