सुप्रिया सुले ने गले मिलकर किया अजित पवार का स्वागत, कहा- खट्ठा- मीठा चलता रहता है

New Delhi: महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधायक पद की शपथ ले ली है। प्रोटेम स्पीकर कालिदास कोलंबकर ने सबसे पहले फडणवीस को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने विधानसभा में सभी विधायकों की अगवानी की। सुप्रिया सुले ने अजित पवार का गले मिलकर उनका स्वागत किया। बड़े भाई अजित पवार से गले मिलने के बाद सुले ने उनके पैर भी छुए।

सुप्रिया सुले ने कहा, जिंदगी में कभी अच्छे दिन होते हैं, कभी बुरे। कुछ खट्ठा- मीठा चलता रहता है। ये उनका ही घर है। इसमें स्वागत करने जैसी कोई बात नहीं है।

बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद महाराष्ट्र में सियासी खेल एकदम से पलट गया। एक महीने से चल रहा सियासी घटनाक्रम खत्म हुआ और इसी बीच शिवसेना अध्यक्ष उध्दव ठाकरे का मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। उध्दव ठाकरे 28 नवंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पहली बार शिवसेना परिवार का कोई नेता राज्य का मुख्यमंत्री बन रहा है।

एनसीपी के महाराष्ट्र प्रमुख जयंत पाटिल ने अगले मुख्यमंत्री के रूप में उध्दव ठाकरे का नाम प्रस्तावित किया था। राज्य में कांग्रेस के प्रमुख बालासाहेब थोराट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी। बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल, कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण, समाजवादी पार्टी के अबू आजमी, स्वाभिमानी शेतकारी संगठन के राजू शेट्टी और इन सभी दलों के सभी विधायक मौजूद थे। तीनों दलों ने अपने गठजोड़ का नाम ‘महाराष्ट्र विकास आघाड़ी’ नाम दिया है।

अजित पवार एनसीपी का ही हिस्सा हैं और हम उनकी देखरेख में काम करेंगे: रोहित पवार