शेहला राशिद को कश्मीर की IAS अफसर का जवाब- अफवाह फैलाकर कोई फायदा नहीं.. जनता हमारे साथ है

NEW DELHI: जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद सेना ने किसी भी अप्रिय घ’टना से निपटने के लिए चप्पे-चप्पे पर मोर्चा संभाला है। दिन बीतने के साथ ही जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य होने लगे हैं। सरकारी दफ्तरों में काम होने लगा है। बंद पड़े शिक्षण संस्थान भी धीरे-धीरे खुलने शुरू हो गए हैं। टेलीफोन सेवा को भी चरणबद्ध तरीके से बहाल किया जा रहा है।

जेएनयू छात्रा और पूर्व छात्र संघ लीडर शेहला राशिद की ओर से 18 अगस्त को दावा किया गया कि कश्मीर के हालात बहुत चिंताजनक हैं। इस पर सेना के बाद अब जम्मू-कश्मीर की सूचना जनसंपर्क विभाग की निदेशक सईद सेहरिश असगर का भी बयान आ गया है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि घाटी में कानून व्यवस्था से संबंधित कोई घ’टना नहीं हुई है।

सईद सेहरिश असगर ने बताया कि घाटी में कानून व्यवस्था को लेकर कोई बड़ी घटना नहीं घटित हुई है। जीवन सामान्य हो रहा है। जनता काफी सहयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा रविवार को अफवाह फैलाई गई, जिसके बाद सरकार ने लोगों से अनुरोध किया कि वे इस तरह की किसी भी तरह की अफवाह पर यकीन न करें। सईद सेहरिश असगर ने कहा कि जम्मू में भी कानून व्यवस्था से जुड़ी किसी तरह की घ’टना नहीं हुई।