नारी शक्ति : 10 घंटे की ड्यूटी के बाद जरूरमंदों की मदद के लिये रोजाना खुद मास्क बनाना और बांटना

New Delhi : दिल्ली पुलिस कोरोना को हराने के लिए हर कदम आगे बढ़कर अपना योगदान दे रही है। अब दिल्ली पुलिस की तीन महिलकर्मियों ने इस महामारी से बचाने के लिए मास्क बनाने की शुरुआत की है। वे अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद थाने में हर रुककर रोजाना 150-200 मास्क बनाकर जरूरतमंदों में बांट रही हैं।
ग्रेटर कैलाश थाने में तैनात कांस्टेबल सुन्नी गुड़िया और नीलम बताती है कि लॉकडाउन के दौरान एक दिन 112 नंबर पर किसी ने कॉल किया था और बाजार में मास्क की किल्लत की सूचना दी थी। जिसके बाद पुलिस ने तुरंत उन्हें मास्क मुहैया कराया था। उसी दिन से उन्होंने मास्क बनाकर जरूरतमंदों को बांटने का विचार किया। एसएचओ से परमिशन मिलने के बाद तीनों ने थाने में ही मास्क बनाने का काम शुरू किया।
हालांकि इस फैसले के दौरान सबसे बड़ी चुनौती मास्क बनाने के लिए कपड़े का इंतजाम करना थी। जिसे एसएचओ की मदद से दूर किया गया। अब तीनों पुलिसकर्मी रोजना 150 से 200 मास्क बना कर गरीबों में बांटती हैं। वे बताती हैं कि मास्क बनाने के दौरान सुरक्षा के सभी मानकों का खयाल किया जाता है और कपड़ो को सेनिटाइज करके मास्क बनाया जाता है। बताते चलें कि ग्रेटर कैलाश थाने में खुद से सेनिटाइजर बनाकर लोगों में पहले से ही बांटा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ fifty = 56