नरेंद्र सिंह तोमर बने कृषि एंव ग्रामीण विकास मंत्री, पेयजल पंचायती राज की भी मिली जिम्मेदारी

New Delhi: मध्यप्रदेश से ताल्लुक रखने वाले और मुरैना से सांसद Narendra Singh Tomar  को मोदी सरकार 2.0 में कृषि एंव ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया है। पिछली सरकार में भी वो कई मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

Narendra Singh Tomar  का Modi Government में कृषि एंव ग्रामीण विकास मंत्री बनाया जाना पार्टी में उनके बढ़ते कद को बताता है। साथ ही उन्हें पेयजल और पंचायती राज जैसे अहम मंत्रालयों की भी जिम्मेदारी दी गई हैं। मोदी सरकार में दो अहम मंत्रालय कि जिम्मेदारी मिलना साबित करता हैं कि नरेंद्र सिंह तोमर पर पीएम मोदी को काफी भरोसा है।

पिछली सरकार में राधा मोहन सिंह कृषि मंत्रालय का जिम्मेदारी संभाल रहे थे। जिनकी जगह पर Narendra Singh Tomar  को कृषि मंत्री बनाया गया है। नरेंद्र सिंह तोमर लगातार दूसरी बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए गए हैं। साल 2014 में सिंधिया के गढ़ में कमल खिलाने के बाद तोमर ने केंद्र की राजनीति में एक अहम मुकाम बनाया है।

Live India

Narendra Singh Tomar ने भारतीय जनता युवा मोर्चा के शहर अध्यक्ष पद से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। उनके करियर में अहम मुकाम तब आया जब वह साल 1998 में पहली बार विधायक चुने गए। साल 2003 में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार में मंत्री बनाया गया।

सुषमा स्वराज की जगह विदेश मंत्री बनाए गए एस जयशंकर,डोकलाम विवाद को सुलझाने में निभाई थी भूमिका

कुछ ही समय बाद उन्हें मध्य प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बना दिया गया। राज्यसभा सांसद के बाद Narendra Singh Tomar  2009 में मुरैना लोकसभा सीट से सांसद चुने गए। इसके बाद वह साल 2014 में ग्वालियर से सांसद चुनकर आए थे। तोमर ने पिछली सरकार में खनन, इस्पात, श्रम और ग्रामीण विकास एंव पंचायती राज जैसे अहम मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली।