नरेन्द्र मोदी ने की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात,सरकार बनाने का दावा पेश किया

पीएम नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया है। इससे पहले शनिवार को एनडीए के संसदीय दल की बैठक में सर्वसम्मति से नरेन्द्र मोदी को संसदीय दल का नेता चुना गया।

इससे पहले संसद के सेंट्रल हॉल में मोदी ने इस मौके पर संबोधित करते हुए कहा कि नए उमंग और नए उत्साह से आगे बढ़ना है। हम नई ऊर्जा के साथ नई यात्रा के लिेए संकल्पबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि भारत का चुनाव विश्व के लिए अजूबा है। जनता ने सेवाभाव के चलते हमें स्वीकार किया। प्रचंड जनादेश जिम्मेदारियों को बढ़ा देता है।

एनडीए का दूसरा नाम एनर्जी है। सबको जोड़कर चलना समय की मांग है। छोटी सी जल्दबाजी से बात बिगड़ सकती है। हम सबको साथ लेकर चले हैं। जो बड़बोले होते है वो कुछ भी बोल देते हैं। ऐसी बातें परेशान करने वाली होती हैं।

ऐसे बयानों से बचना जरुरी है। मीडिया को नमूनों के बारे में पता होता है। छपास और दिखास दोनों से बचना चाहिए। दुनिया में कुछ भी ऑफ रिकार्ड नहीं होता। हमें अपने का हर तरह से संभालना है। जिम्मेदारी बड़ी है उसे निभाना है। हमारे भीतर का  कार्यकर्ता जिंदा रहना चाहिए। अहंकार को जितना दूर रख सकते हैं उतना रखें। हम जो कुछ भी है वो मोदी की वजह से नहीं बल्कि जनता की वजह से हैं। हमें सिर्फ और सिर्फ जनता का दिल जीतना है। वहीं हमें जीत दिलाती है। हमें जनता के आदेश का पालन करना चाहिए।

मंत्री पद के लिए जो भी नाम मीडिया द्वारा चल रहा है उसपर ध्यान न दें। ये केवल भ्रम पैदा करने के लिए है। कई बार नाम भ्रमित करने के लिए चलते हैं। अखबार के पन्नों से न मंत्री पद बनते हैं और न मंत्री पद जाते हैं। किसी के बहकावे में आने की जरुरत नहीं है। गुमराह करने वालों से बचने की जरुरत है। दायित्व कुछ को ही मिलता है, बहकावे मे न आए। इन चीजों से हमें बचना है। इसलिए मैं आप सब को ये बता देता हूं। 2019 में गरीबों ने हमारी सरकार बनाई है। ये रास्ता जो हमें मिला है वो सफलता का रास्ता है।

kaushlendra

सामाजिक और राजनीतिक विषयों पर लिखने में दिलचस्पी है।गांधी जी का फैन हूँ।समाज में जागरुकता लाना उद्देश्य है।पत्रकारिता मेरा प्रोफेशन है,जुनून है और प्यार भी है।
kaushlendra