रहस्यमयी मंदिर : महादेव के इस चमत्कार का राज आज तक नहीं सुलझा सका कोई

New Delhi : देशभर में जहां भगवान शिव के अनेको मंदिर बने हैं, वहीं आज भी कुछ ऐसे रहस्यमयी मंदिर मौजूद हैं, जिनके तथ्य लोगों को हैरान कर सकते हैं। हम बात कर रहे हैं एक ऐसे मंदिर की जिसके बारे में तो लोगों ने बहुत कम सुना होगा लेकिन इसकी धार्मिक मान्या सबसे ज्यादा है। झारखंड के रामगढ जिले में भगवान शिव का एक बेहद ही रहस्यमयी मंदिर है जिसे टूटी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर में आज भी शिवलिंग पर 24 घंटे जलाभिषेक होता रहता है।

वैसे तो आमतौर पर लोग 1 से 2 या 3 बार जलाभिषेक करते हैं लेकिन 24 घंटों तक जलाभिषेक किसी को भी हैरान कर सकता है। जी हां, इस रहस्यमयी मंदिर की एक बेहद रोचक इतिहास है जिससे बहुत कम लोग जानते हैं।
झारखंड के रामगढ में स्थित यह मंदिर टूटी मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। इतना ही नहीं इस मंदिर में 24 घंटे शिवलिंग पर जलाभिषेक होता रहता है और इस जलाभिषेक का स्त्रोत मां गंगा को माना गया है। प्राचीन कहानी के मुताबिक सन् 1925 में अंग्रेज झारखंड के रामगढ इलाके में रेलवे लाइन बिछा रहे थे। जब वे पानी की खुदाई कर रहे थे तब इसी दौरान उन्हें जमीन के अंदर कुछ अजीब सा दिखाई दिया जो गुंबदनुमा प्रकार का था।
अंग्रेजो ने जमीन के अंदर तक खुदाई की जहां उन्हें एक प्राचीन मंदिर मिला। इस मंदिर में भगवान शिव का शिवलिंग मौजूद था जिसके ठीक उपर से जल निकल रहा था जो शिवलिंग पर आकर गिर रहा था। जल का स्त्रोत गंगा मां कि प्रतिमा से निकल रहा था जो नाभी से आपरूपि गंगा मां के हाथों से निकल रहा था और शिवलिंग पर गिर रहा था।

इस दृश्य को देखने के बाद अंग्रेज काफी हैरान रह गए थे। बता दें कि, रामगढ के इस मंदिर में आज भी रहस्य सुलझ नहीं पाया है कि आखिर कहां से ये पानी निकलता है और क्या इसका स्त्रोत हैं। लेकिन धार्मिक दृष्टि से इसे देखा जाए तो यह भगवान शिव का चमत्कार है जिसे स्वंय गंगा मां भी पूजती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + nine =