काले मुर्गे बेचकर 8 महीनों में बदल गई इस महिला की किस्मत, कमाई जानकर आप भी पकड़ लोगे अपना सिर

काले मुर्गे बेचकर 8 महीनों में बदल गई इस महिला की किस्मत, कमाई जानकर आप भी पकड़ लोगे अपना सिर

By: Rohit Solanki
April 16, 12:04
0
New Delhi: भारत में पिछले कुछ सालों से काले मुर्गे की बिक्री तेज हो गई है। झारखंड की एक महिला इन दिनों सिर्फ काले मुर्गे पालकर उन्हें बेच रही है और सिर्फ 8 महीने में वो अब तक 3 लाख रुपए कमा चुकी है।

जी हां, ये महिला अब तक 300 से ज्यादा कड़कनाथ मुर्गे बेच चुकी है। दंतेवाड़ा की रहने वाली इस महिला का कहना है कि पिछले साल कृषि विज्ञान केंद्र की मदद से हमने मई में कड़कनाथ मुर्गे की फार्मिंग शुरू की थी और सिर्फ 8 महीने में 300 मुर्गे बेचकर 3 लाख की कमाई हुई है। बता दें कि कड़कनाथ मुर्गे का एक अंडा 50 रुपये का बि‍कता है। यह मुर्गा दरअसल अपने स्वाद और सेहतमंद गुणों के लि‍ए मशहूर है। चाहे कड़कनाथ का अंडा हो, मांस हो या फिर उसका खून सबका रंग काला होता है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक, कड़कनाथ के मीट में सफेद चिकन के मुकाबले कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और अमीनो एसिड का स्तर ज्यादा होता है। मूलरूप से कड़कनाथ मध्य प्रदेश के झबुआ जिले का मुर्गा है मगर अब पूरे देश में यह मि‍ल जाता है। हाल ही के दिनों में छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बीच कड़कनाथ मुर्गे के मालिकाना हक को लेकर विवाद कोर्ट तक पहुंच गया था, जिसके बाद मालिकाना हक मध्य प्रदेश को मिला।

सिर्फ छत्तीसगढ़ या मध्य प्रदेश ही नहीं महाराष्‍ट्र, आंध्रपेदश, तमि‍लनाडु सहि‍त कई राज्‍यों में लोगों इस मुर्गे से अच्छी खासी कमाई कर रहे हैं। कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रख इसे कहीं भी पाला जा सकता है। कड़कनाथ मुर्गे की मांग पूरे देश में बढ़ रही है। सबसे खास बात तो ये है कि इसे पालना आम मुर्गों के मुकाबले आसान होता है।

इसका मीट और अंडा बॉयलर तो दूर की बात देसी मुर्गे से भी कहीं ज्‍यादा महंगा बि‍कता है। फुटकर बाजार में इसके मीट का रेट 300 से लेकर 450 रुपये होता है। जि‍न इलाकों में यह मौजूद नहीं वहां इसके एक अंडे की कीमत 25 रुपये तक चली जाती है। अगर आप ऑनलाइन इसका अंडा खोजेंगे तो 50 रुपये तक दाम रखा गया है। हालांकि‍ ग्रामीण इलाकों में इतना दाम नहीं मि‍लता। इसके एक दि‍न के चूजे की कीमत 70 रुपये के आसपास होती है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।