अरविंद केजरीवाल: भारतीय राजनीति का आम आदमी

अरविंद केजरीवाल: भारतीय राजनीति का आम आदमी

By: Manvi
August 10, 08:58
0
New Delhi. अरविंद केजरीवाल भारतीय राजनीति का वह नाम है, जिसने मुख्य धारा से अलग राजनीतिज्ञों की एक नई जमात खड़ी की। इन्होंने राजनीति में आम आदमी की मौजूदगी इस तरह दर्ज कराई, कि कभी देश पर एकछत्र राज करने वाली कांग्रेस के सुपड़े दिल्ली से साफ हो गए।


अरविंद केजरीवाल का जन्म साल 1968 में हरियाणा के हिसार शहर में हुआ था। अरविंद पढ़ाई में अच्छे थे, इसलिए आईआईटी खड़गपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद 1992 में वे भारतीय नागरिक सेवा के एक हिस्से भारतीय राजस्व सेवा में अधिकारी बने। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि सरकार में पारदर्शिता की कमी है। तब पद पर रहते हुए ही उन्होंने भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम शुरू कर दीआयकर कार्यालय में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए कई परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साल 2006 में उन्होंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और पूरे समय के लिए सिर्फ ‘परिवर्तन’ नाम के सामाजिक संगठन में काम करने लगे। इस दौरान उन्होंने सूचना का अधिकार अधिनियम आरटीआई के क्षेत्र में भी काफी योगदान दिए।

राजनीति में पदार्पण

2011 में सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चलाया। इसे अन्ना आंदोलन कहा गया। इस आंदोलन ने भ्रष्टाचार के खिलाफ देशभर को एकजुट कर दिया।अरविंद केजरीवाल इस आंदोलन के अहम हिस्से थे। अन्ना आंदोलन के समाप्त होने के बाद अरविंद को एहसास हुआ कि परिवर्तन के लिए राजनीति में आना अनिवार्य है। तब उन्होंने आम आदमी पार्टी नाम का एक राजनीतिक दल बनाया।अपनी पार्टी के एजेंडे में उन्होंने भ्रष्टाचार के उन्मूलन को सबसे अधिक तरजीह दी। दिल्ली की जनता ने भी उनकी पार्टी को हाथों हाथ लिया। इसी का परिणाम था कि 2013 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में उन्होंने 15 साल से सत्ता पर काबिज कांग्रेसी मुख्यमंत्री को बुरी तरह पराजित कर दिया।

इस चुनाव में आम आदमी पार्टी दूसरे सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी। केजरीवाल पहली बार मुख्यमंत्री बने। हालांकि वे इस पद पर बहुत कम दिनों के लिए रहे, लेकिन इस दौरान उन्होंने कई ऐसे निर्णय लिए जिससे दिल्ली की जनता का उनमें विश्वास बढ़ा। इसका परिणाम हुआ कि जब दिल्ली में 2015 में विधानसभा चुनाव कराए गए तो कुल 70 में से 67 सीटों पर केजरीवाल की पार्टी को जीत मिली थी।फिलहाल अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कई नई योजनाओं पर काम किया है, जिससे दिल्ली की जनता को राहत मिली है। इनमें डीटीएच बस, ऑड इवेन फार्मूले, मोहल्ला क्लिनिक जैसे फैसले शामिल हैं। इन दिनों अरविंद केजरीवाल देश के अन्य हिस्सों में भी अपनी पार्टी का विस्तार करने की योजना पर काम कर रहे हैं।

इनकी पार्टी ने पंजाब के विधानसभा चुनाव में भी बेहतर प्रदर्शन किया है। हालांकि केजरीवाल का विवादों से भी पुराना नाता रहा है। बीजेपी नेता अरुण जेटली ने उनपर बयान बाजी के कारण मानहानि का मुकदमा दायर की थी, जिस पर केजरीवाल ने  माफी मांग ली थी। इन सबके बीच अरविंद केजरीवाल को देश की राजनीति में शालीनता और साफगोई वाले राजनीतिज्ञ  के तौर पर जाना जाता है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।