सॉफ्ट ड्रिंक का ज्यादा इस्तेमाल पैदा कर सकता है जा‘नलेवा बीमारी

नई दिल्लीः गर्मियों का मौसम हो और कुछ ठंडा ना पिया तो क्या किया और वो ड्रिंक मिठी हो तो कहना ही क्या। क्या आपको भी शुगर ड्रिंक इतनी ज्यादा पसंद हैं अगर आपका जवाब हां है तो आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है फ्रांस में हुए एक अध्ययन के नतीजे शुगर ड्रिंक्स को आपके लिए एक खतरा बताते हैं। ये खतरा भी किसी छोटी-मोटी बीमारी का नहीं बल्कि कैंसर का है। ये अध्ययन British Medical Journal में प्रकाशित हुआ। इस अध्ययन में एक लाख लोगों पर 5 साल तक नजर रखी गई।

Université Sorbonne Paris Cité की टीम ने ये अनुमान लगाया कि कैंसर के लिए ब्लड शुगर लेवल दोषी हो सकता है। अब आप सोच रहे होंगे कि हमे कैसे पता चलेगा कि कौन सी ड्रिंक शुगरी है और कौन सी नहीं तो आपको बता दें कि जिसमें 5 प्रतिशत से ज्यादा शुगर है उसे शुगरी ड्रिंक की कैटेगरी में रखा गया है। इसमें फ्रूट जूस (जिसमें चीनी नहीं मिली हुई वो भी), सॉफ्ट ड्रिंक, मीठे मिल्कशेक, एनर्जी ड्रिंक और चीनी मिली हुई चाय और कॉफी भी शामिल है।

अध्ययन के नतीजों में बताया गया कि एक दिन में 100 मि.ली. से ज्यादा शुगरी ड्रिंक पीना जो कि हफ्ते में दो कैन पीने के बराबर है से कैंसर होने का खतरा 18 प्रतिशत बढ़ जाता है। अध्ययन में शामिल किए गए हर 1,000 लोगों में से 22 को कैंसर था। रिसर्चरस की मानें तो अगर वो लोग एक दिन में 100 मि.ली. अतिरिक्त शुगर ड्रिंक पीते हैं तो इससे 4 और लोगों को कैंसर हो जाएगा, इस तरह हर 1,000 लोगों पर 26 को कैंसर होगा।

Dr Graham Wheeler ने कहा कि हालांकि ये शुगरी ड्रिंक लेने और कैंसर होने के बीच एक असली लिंक है लेकिन इसमें अभी और रिसर्च की जरूरत है। इस अध्ययन में कुल 2,193 कैंसर के मामले पाए गए। हालांकि ये शुगरी ड्रिंक पीने और कैंसर पैदा होने के बीच एक पैटर्न को तो दिखाता है लेकिन ये आंकडे इसे समझा नहीं पाए। इसका साफ मतलब ये है कि ये जरूरी नहीं कि जो लोग ज्यादा शुगरी ड्रिंक पी रहे हों उनमें कैंसर होने का खतरा ज्यादा हो और जो कम पी रहे हों उनमें कम।

इस तरह ये अध्ययन ये नहीं बता पाता कि पक्के तौर पर शुगरी ड्रिंक से कैंसर होता ही है हालांकि ये तो बता ही है कि हमे अपनी शुगर लेने की मात्रा को कम करने की जरूरत है।बहुत से कैंसर में मोटापा एक प्रमुख कारण होता है और ज्यादा मात्रा में शुगरी ड्रिंक लेने से वजन बढ़ने की संभावना बढ जाती है। हाल ही एक रिसर्च में इस बात का पता चला था कि मोटापा कैंसर के लिए स्मो‘किंग से भी ज्यादा खतरनाक है। रिसर्चरस ने ये भी बताया कि ड्रिंक में रंग के लिए डलने वाले कैमिकल को भी इसके लिए दोष दिया जा सकता है कि वो कैंसर का कारण बनते हैं। हालांकि कोई बात अभी पुख्ता तौर पर कहने के लिए और रिसर्च की जरूरत होगी। Dr Touvier ने कहा कि शुगरी ड्रिंक पीने से दिल की बीमारी, अधिक वजन, मोटापे और डायबिटीज का खतरा बढ़ता है।