जो कश्मीर मुद्दे की स्पष्ट समझ चाहते हैं, उन्हें अमित शाह का भाषण सुनना चाहिए: PM मोदी

NEW DELHI: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि अमित शाह का आज का दिया भाषण बेहद व्यापक था और जो लोग भी कश्मीर मुद्दे की स्पष्ट समझ चाहते हैं उन्हें ये भाषण सुनना चाहिए। बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह सोमवार को राज्यसभा में कश्मीर से जुड़ा आरक्षण बिल पेश कर रहे थे जिस दौरान उन्होंने कश्मीर को लेकर कांग्रेस पर करारा हमला बोला।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, “केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह के संसद के दोनों सदनों में भाषण व्यापक और व्यावहारिक थे। जो लोग कश्मीर मुद्दे की स्पष्ट समझ चाहते हैं, उन्हें इनके भाषण सुनने चाहिए।”

बता दें कि सोमवार को राज्यसभा ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने को लेकर पेश प्रस्ताव को अपनी सहमति दे दी है। वहीँ इस दौरान जम्मू कश्मीर आरक्षण (संसोधित)बिल पेश किया गया। इसके तहत एलओसी, अंतरष्ट्रीय सिमा पर रहने वाले लोगों को आरक्षण देने का प्रस्ताव है।

पीएम ने ट्वीट किया, “जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक का पारित होना कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों के सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वालों के लिए न्याय सुनिश्चित करता है। इन क्षेत्रों के उज्ज्वल और प्रतिभाशाली युवाओं की आकांक्षाएं पूरी होंगी, जो राज्य और हमारे राष्ट्र के लिए अद्भुत है।”

बता दें कि सोमवार को राज्यसभा में बोलते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस को खूब घेरा। अमित शाह ने कहा कि कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि कश्मीर की समस्या का समाधान जम्हूरियत,कश्मीरियत और इन्सानियत” में होना चाहिए, मैं आज फिर से दोहराता हूं कि मोदी की अगुवाई वाली सरकार अटल जी के रास्ते पर चलकर जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत के लिए काम कर रही है।

अमित शाह ने सीजफायर को लेकर भी कांग्रेस पर हमला किया। अमित शाह ने पूछा कि 1949 को जब एक तिहाई कश्मीर पाकिस्तान के क’ब्जें में था तो आपने सीज’फायर क्यों कर दिया। ये सीज’फायर न हुआ होता ये झगड़ा ही न होता, ये आतं’कवाद ही नहीं होता, करीब 35 हजार जा’नें नहीं गई होती। इन सबका मूल कारण सीज’फायर ही था।

गौरतलब है कि सदन के दोनों सदनों से इन विधेयकों के पास होने पर प्रधानमंत्री ने सभी राजनीतिक दलों को धन्यवाद भी दिया।