सबसे ताकतवर सैटेलाइट की लॉन्चिग के बाद बोले मोदी, ISRO वैज्ञानिकों को दिल से बधाई

New Delhi : भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने 27 नवंबर की सुबह देश की सुरक्षा और विकास के लिए इतिहास रचा है। इसरो ने सुबह 9.28 बजे सैटेलाइट कार्टोसैट-3 को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया।

जिसके बाद पीएम मोदी ने ISRO के वैज्ञानिकों को बधाई दी है। मोदी ने कहा-इसरो ने एक बाद फिर देश को गौरवान्वित किया है। मैं वैज्ञानिकों दिल से बधाई देता हूं

अब भारतीय सेनाएं पाकिस्तान की नापाक हरकत और उनकी आ’तंकी गतिविधियों पर बाज जैसी नजर रख पाएंगी। जरूरत पड़ने पर इस सैटेलाइट की मदद से सर्जिकल या एयर स्ट्राइक भी कर पाएंगी। इतना ही नहीं किसी भी मौसम में यह सैटेलाइट पृथ्वी की साफ तस्वीरें ले सकेगा।

इसरो चीफ डॉ. के. सिवन ने सफल लॉन्चिंग के बाद कहा कि मैं बहुत खुश हूं क्योंकि पीएसएलवी-सी47 ने कार्टोसैट-3 और 13 अमेरिकी सैटेलाइट्स को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया है। यह सबसे ताकतवर कैमरे वाला नागरिक उपग्रह है।

मैं पूरी टीम को सैटेलाइट टीम को बधाई देना चाहता हूं क्योंकि यह देश का अब तक सबसे बेहतरीन अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट है। अब हम मार्च तक 13 उपग्रह और छोड़ेंगे। हमारा यह टारगेट है और इसे जरूर पूरा करेंगे।

हाथ की घड़ी का समय तक देख लेगा यह सैटेलाइट : Cartosat-3 अपनी सीरीज का नौवां सैटेलाइट है। कार्टोसैट-3 का कैमरा इतना ताकतवर है कि वह अंतरिक्ष में 509 किलोमीटर की ऊंचाई से जमीन पर 9।84 इंच की ऊंचाई तक की स्पष्ट तस्वीर ले सकेगा। यानी आप की कलाई पर बंधी घड़ी पर दिख रहे सही समय की भी सटीक जानकारी देगा।