MLA बोले- हाथरस जैसी घटनाएं रोकनी है तो बेटियों को बताना होगा कि कैसे उठना-बैठना है, संस्कार देना होगा

New Delhi : भारतीय जनता पार्टी के बलिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने हाथरस प्रकरण पर बड़ा ही शर्मनाक बयान दिया है। इस बयान से उनकी तकियानूसी मानसिकता का तो पता चलता ही है, यह भी स्पष्ट हो जा रहा है कि इतने गंभीर मसले को भी हम बिलकुल भी गंभीरता से नहीं लेते हैं। भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने हाथरस प्रकरण पर पूछे जाने पर कहा कि हाथरस में 19 वर्षीय दलित लड़की के साथ हुई घटना को तभी रोका जा सकता है, जब माता-पिता अपनी बेटियों में अच्छे संस्कारों को जन्म दें। उन्हें अच्छे संस्कारों की परवरिश दें। उन्हें बताएं कि कैसे उठना-बैठना है। क्या करना है, क्या पहनना है।

बलिया में स्थानीय पत्रकारों से बात करते हुये भाजपा विधायक ने कहा – न तो शासन और न ही कानून का जोर इस तरह के अपराध को रोक सकता है। उन्होंने कहा- इस तरह की घटनाओं को अच्छे मूल्यों की मदद से रोका जा सकता है। ना शसन से और ना तलवर से। सभी माता-पिता को अपनी बेटियों को अच्छे मूल्यों की शिक्षा देनी चाहिये। यह शासन और अच्छे मूल्यों का संयोजन है जो देश को सुंदर बना सकता है।
इससे पहले भी भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह विवादित बयान देते रहे हैं। उन्होंने पूर्व में सरकारी अधिकारियों की तुलना कोठेवाली महिलाओं के साथ किया था। उन्होंने कहा था- कोठे पर बैठनेवाली औरतें भी अधिकारियों की तुलना में बेहतर हैं। वे पूरी रात पैसे लेती हैं और नाचती हैं। लेकिन ये अधिकारी जनता से पैसा लेने के बावजूद अपना काम नहीं करते हैं। वे पूर्व में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बसपा अध्यक्ष मायावती पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुके हैं।

इधर हाथरस के पूर्व विधायक और भाजपा नेता राजवीर सिंह पहलवान ने आज रविवार 4 अक्टूबर को ठाकुरों की एक मीटिंग की और कहा कि न्यूज चैनल्स, मीडिया हाथरस प्रकरण के बारे में झूठा प्रचार कर रहे हैं। वैसा कुछ हुआ ही नहीं है। पीड़ित बालिका के साथ किसी तरह का अपराध नहीं हुआ। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ की मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा का स्वागत किया। नार्को टेस्ट भी होना चाहिये। क्योंकि ऐसी घटना घटी ही नहीं। झूठा प्रचार किया जा रहा है। अब इस मामले में दूध का दूध और पानी का पानी होना बेहद जरूरी है। यह पंचायत पीड़ित के घर के बगल में की गई वो भी तब जब पूरे जिले में धारा 144 प्रभावी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty seven − = 17