बेंगलुरू में पुलिस के साथ धक्का मुक्की करते जीतू पटवारी

कांग्रेस विधायकों से मिलने गये मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह को बेंगलुरू पुलिस ने पीटा, हिरासत में लिया

New Delhi : कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने गए मंत्री Jitu Patwari और Lakhan Singh के साथ बेंगलुरु पुलिस ने धक्का-मुक्की कर दोनों को हिरासत में ले लिया। उनके साथ बागी विधायक मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी भी थे। पुलिस ने उनसे भी बुरा बर्ताव किया। कांग्रेस ने इसे भाजपा के इशारे पर किया गया हमला बताते हुए मामले को सुप्रीम कोर्ट ले जाने की बात कही है।

पीसीसी दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे विवेक तन्खा ने कहा- जीतू पटवारी और लाखन सिंह हमारे मंत्री हैं। वह मनोज चौधरी से मिलने पहुंचे। जीतू पटवारी मनोज चौधरी के रिश्तेदार हैं और मनोज चौधरी उनके साथ आना चाहते हैं, लेकिन जीतू पटवारी के साथ मारपीट की गई है, इसके बाद जीतू पटवारी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। अगर बेंगलुरु पुलिस उन पर कार्रवाई नहीं करती (जिन्होंने मंत्रियों जीतू पटवारी व लाखन सिंह के साथ बुरा बर्ताव) है तो हमें कोर्ट जाना पड़ेगा। किस तरह से हमारे विधायकों को बंधक और अगवा कर लिया है। हम मप्र हाईकोर्ट जाते, लेकिन ये कर्नाटक का मामला है और क्रास बार्डर इश्यू है, इसलिए हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

विवेक तन्खा ने कहा – हम सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे, उन्हें बताएंगे कि देश का लोकतंत्र खतरे में है और भाजपा जो कर रही है वह अपराध है। प्रजातंत्र पर इतना बड़ा हमला पहले कभी नहीं हुआ है। मप्र में कभी खरीद-फरोख्त नहीं की गई लेकिन यहां के विधायकों के साथ भी खरीद-फरोख्त की गई है। आज प्रजातंत्र को खतरा किससे है, कांग्रेस से या बीजेपी से है।
इसके बाद तन्खा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों को वो वीडियो भी दिखाए, जिसमें जीतू पटवारी के साथ पुलिस धक्का मुक्की कर रही है और उन्हें अपने साथ जबरन बस पर बिठा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + four =