सीरियल राम सिया के लव कुश में तथ्यों से छेड़छाड़ करने पर प्रसारण मंत्रालय ने जारी किया नोटिस

New Delhi : सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने शुक्रवार को टीवी सीरियल “राम सिया के लव कुश” में तथ्यों के साथ छेड़छाड़ करने पर कलर्स टीवी को नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही 15 दिनों के भीतर पेश होने के आदेश दिए हैं।

आपको बता दें कि पंजाब में टी वी शो “राम सिया के लव कुश” पर वाल्मीकि समाज के वि’रोध के बाद इसके प्रसारण पर रोक लगा दी गई थी। इस सीरियल के कुछ हिस्सो के टेलीकास्ट के बाद वाल्मीकि समाज इसके वि’रोध में उतर आया था। और पिछले हफ़्ते वाल्मीकि समुदायें ने पंजाब बंद करने का आह्वाहन किया था। इसी के बाद अब प्रशासन ने पंजाब के कुछ हिस्सों में इस सीरियल को दिखाए जाने पर रोक लगा दी थी। हालांकि पंजाब और हरियाणा के उच्च न्यायालय ने टी.वी सिरियल “राम सिया के लव कुश” के केबल प्रसारण पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था

गौरतलब है कि वाल्मी कि समुदाय ने आरोप लगाया था कि ‘राम सिया के लव-कुश’ सीरियल में भगवान वाल्मीवकि के बारे में गलत तथ्य दिखाए जा रहे हैं और इससे उनकी धार्मिक भावनाएं आ’हत हुई हैं। बता दें कि वाल्मीकि समुदाय इस परपूरे राज्य में बंद करने का आ’ह्वान किया था। इस आ’ह्वान के चलते फाजिल्का के अधिकतम बाजार सुबह के समय बंद रहे थे। सुबह करीब 11 बजे वाल्मीकि समुदाय की ओर से शहर में रो’ष मार्च निकाला गया। यह रो’ष मार्च जब मेहरियां बाजार के निकट पहुंचा तो एक दुकान को खुला देकर दुकानदार व वाल्मीकि समुदाय के लोगों में भि’ड़ंत हो गई थी। देखते ही देखते भि’ड़ंत ने गंभीर रूप धारण कर लिया। इस दौरान वाल्मीकि समुदाय के साथ आए लोगों ने दुकान के बाहर पड़ा सामान बि’खेर दिया।