आज नहीं बल्कि कल होगा छत्तीसगढ़ के अगले CM के नाम का ऐलान, 12 बजे बुलाई राहुल गांधी ने बैठक

New Delhi: 15 साल बाद छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने सत्ता में वापसी की। लेकिन अब मुख्यमंत्री के नाम पर पार्टी प्रमुख राहुल गांधी दुविधा में हैं कि वह किस उम्मीदवार को सीएम का पद सौंपे। इसको लेकर बैठक खत्म हो चुकी है। इसका फैसला कल आयोजित बैठक के बाद किया जायेगा। यानी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर एक और दिन का इंतजार करना पड़ेगा। बैठक खत्म होने के बाद राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं के साथ एक तस्वीर ट्वीट कर एकता का संदेश दिया है।

दरअसल, छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पीएल पुनिया ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि कल यानी रविवार को दोपहर 12 बजे बैठक होगी। बैठक के बाद हम सीएम के नाम का ऐलान करेंगे। राज्यपाल ने हमें 17 दिसंबर को 4.30 बजे शपथग्रहण का समय दिया है। ऐसे में जल्दी क्या है? आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में प्रदेश इकाई के चार सीनियर नेता हैं- टीएस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, भूपेश बघेल और चरणदास महंत।

Chhattisgarh Congress

चलिए आपको बताते हैं कि रेस में कौन-कौन हैं। सबसे पहले बात करते हैं ताम्रध्वज साहू की, ताम्रध्वज साहू कांग्रेस के सांसद हैं। वह पार्टी में ओबीसी चेहरे के तौर पर देखे जाते हैं। दुर्ग ग्रामीण सीट से जीत हासिल कर और लोकप्रियता के आधार पर ताम्रध्वज साहू मुख्यमंत्री पद के दावेदार बने। अब बात करते हैं भूपेश बघेल की, भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ कांग्रेस के जाने-पहचाने चेहरे हैं। वह पाटन सीट से विधायक हैं और अब मुख्यमंत्री पद के दावेदार भी है। हालांकि उनका नाम सीडी कांड में भी आया था।

अब बारी आती हैं चरणदास महंत की, चरणदास महंत सक्ती विधानसभा सीट से जीत हासिल की। मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में से अब ये एक हैं। आखिर में बात करते हैं कि त्रिभुनेश्वर शरण सिंहदेव की, यह मौजूदा विधानसभा चुनाव में विपक्ष के नेता हैं। टीएस बाबा के नाम से जाने जाते हैं। सरगुजा के राज परिवार से संबंध रखते हैं।

मुख्यमंत्री के नाम के ऐलान को लेकर त्रिभुनेश्वर शरण सिंहदेव ने कहा कि हमारे पास 1 से ज्यादा योग्य नाम हैं, इसलिए प्रक्रिया में समय ज्यादा लग है। किसी भी मामले अंतिम परिणाम 11वें स्थान पर रहा, इसलिए आज यह 4 दिन हो गया हैं। सीएम की नियुक्ति के लिए बीजेपी ने 7-8 दिनों से ज्यादा समय लिया। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 90 सदस्यीय विधानसभा में 68 सीटें हासिल हुई हैं।