मायावती बोलीं- मोदी राज में बेरोजगारी चरम पर, लेकिन अमीरों की संख्या बढ़ी

New Delhi: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने बेरोजगारी को लेकर मोदी सरकार पर जोरदार निशाना साधा है।

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि पिछले 45 सालों में बेरोजगारों की दर इस समय सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी का शाप 45 वर्षों में इस समय सर्वाधिक है। देश गर्क में क्यों जा रहा है। वैसे तो पूर्व की सरकारें भी गरीबी उन्मूलन और सामाजिक न्याया देने में फेल रही हैं।

मायावती ने कहा कि मोदी सरकार के विकास से देश में अमीरों की संख्या तो बहुत बढ़ी हैं पर गरीबी और बेरोजगारी भी अपने चरम पर है। मोदी सरकार को इस मुद्दे पर जवाब देना चाहिए। इससे पहले मायावती ने राफेल सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट कर लिखा था कि राफेल सौदे की गोपनीय फाइल अगर चोरी हो गई तो कोई गम नहीं, किन्तु देश में रोजगार की घटती दर और बढ़ती बेरोजगारी व गरीबी, श्रमिकों की दुर्दशा, किसानों की बदहाली आदि के सरकारी आंकड़े पब्लिक नहीं होनी चाहिए। क्या देश को ऐसा ही चौकीदार चाहिए।

उत्तर प्रदेश में सात चरणों में वोटिंग होनी है। ऐसे में राजनीतिक पार्टियों ने एक दूसरे पर निशाना साधना तेज कर दिया है। मायावती ने अखिलेश यादव के साथ गठबंधन करके उत्तर प्रदेश में बीजेपी की मुश्किलें पहले ही बढ़ा दी हैं। हालांकि मायावती बीजेपी के साथ साथ कांग्रेस पर भी निशाना साधती रही हैं।