न्यूजीलैंड के नाम दर्ज है टेस्ट क्रिकेट का शर्मनाक रिकॉर्ड, महज 26 रन पर ढेर हो गई थी पूरी टीम

New Delhi: इस बात की कल्पना करना ही मुश्किल है कि टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में कोई टीम केवल 26 रनों पर ही लुढ़क सकती है। लेकिन ऐसा वास्तव में हुआ था।

64 साल पहले आज (28 मार्च, 1955) के दिन ज्योफ रेबोन की अगुआई वाली न्यूजीलैंड टीम ने लियोनार्ड (लेन) हटन की इंग्लैंड टीम के खिलाफ टेस्ट मैच (Test Cricket) नाटकीय ढंग से समर्पण कर दिया था। संयोगवश यह लेन हटन के करियर का अंतिम टेस्ट मैच था।

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच ऑकलैंड के इडन पार्क पर दूसरा टेस्ट 25 मार्च 1955 से खेला गया था। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए स्कोर बोर्ड पर 200 रन टांग दिए। जवाब में इंग्लैंड पहली पारी में 246 रन बनाने में सफल रहा और उसे 46 रन की उपयोगी बढ़त हासिल हुई।

अब न्यूजीलैंड को पहले 46 रन की बढ़त पाटनी थी। इंग्लैंड के बॉब एपलयार्ड और ब्रॉयन स्टेथम की कहर बरपाती गेंदबाजी के सामने किवी बल्लेबाजों के पैर उखड़ गए। बॉब एपलयार्ड ने महज सात देकर चार और ब्रॉयन स्टेथम ने नौ रन देकर तीन विकेट चटकाए।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

न्यूजीलैंड की टीम केवल 26 रन पर पवेलियन लौट गई। इंग्लैंड ने इस टेस्ट में पारी और 20 रन से जीत दर्ज की। 26 रन टेस्ट इतिहास में किसी भी टीम का पारी में सबसे कम स्कोर है। ये शर्मनाक रिकॉर्ड आज भी न्यूजीलैंड के नाम दर्ज है।

टेस्ट इतिहास का दूसरा सबसे कम स्कोर 30 रन साउथ अफ्रीका ने इंग्लैंड के खिलाफ 1896 में पोर्ट एलिजाबेथ टेस्ट में बनाया था। टेस्ट के दस सबसे कम स्कोरों में पांच साउथ अफ्रीका के नाम पर हैं। इस सूची में एक बार भारत का नाम भी है। भारत 1974 में लॉर्डस टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ 42 रन पर ऑल आउट हो गया था।

न्यूजीलैंड टीम की दूसरी इनिंग में 27 ओवर्स में बने 26 रन में चार डक शामिल रहे। टॉप स्कोरर ओपनर बर्ट सटक्लिफ (11) रहे।