टीएन शेषन के नि’धन पर पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, नितिन गडकरी समेत कई लोगों ने जताया शो’क

New Delhi: चुनाव आयोग को अलग पहचान देने वाले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ नि’धन पर शो’क जताया है।

उन्होंने ट्वीट किया, ”टीएन शेषन एक उत्कृष्ट सिविल सेवक थे। उन्होंने अत्यंत परिश्रम और निष्ठा के साथ भारत की सेवा की। चुनावी सुधारों के प्रति उनके प्रयासों ने हमारे लोकतंत्र को मजबूत और अधिक सहभागी बनाया है। उनके नि’धन का दु’ख है। ओम शांति।”

वहीं गृह मंत्री शाह ने लिखा, ‘पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त, श्री टी एन शेषन जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने भारत की चुनावी संस्था को सुधारने और मजबूत बनाने में एक परिवर्तनकारी भूमिका निभाई. राष्ट्र उन्हें हमेशा लोकतंत्र के सच्चे मशालची के रूप में याद रखेगा। मेरी प्रार्थनाएं उनके परिवार के साथ हैं।

कांग्रेस नेता शशि थरुर ने ट्वीट किया, ‘चेन्नई में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन के निधन की सूचना से दु’खी हूं। वह विक्टोरिया कॉलेज, पलक्कड़ में मेरे पिता के सहपाठी थे। वह साहसी बॉस थे जिसने चुनाव आयोग की स्वायत्तत्ता को स्थापित किया। हमारे लोकतंत्र के एक स्तंभ।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लिखा- टीएन शेषन के निधन का मुझे दु’ख है। वह एक सच्चे लीजेंड थे। चुनाव सुधारों के लिए उनका योगदान आने वाले वर्षों के लिए मार्गदर्शक प्रकाश होगा। मै गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ। शांति!

बता दें कि शेषन ने 1990 के दशक में देश में चुनाव सुधार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। शेषन ने कार्डियक अ’रेस्ट के बाद चेन्नई में अंतिम सांस ली। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, शेषन का स्वास्थ्य पिछले कुछ सालों से ठीक नहीं चल रहा था। दिल का दौरा पड़ने से रविवार रात करीब साढ़े नौ बजे उनका नि’धन हो गया।

शेषन देश के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त थे। इस पद पर वे 1990 से 1996 तक रहे। चुनाव आयुक्त बनने से पहले शेषन ने कई मंत्रालयों में काम भी किया। वह ऐसे पहले चुनाव आयुक्त थे जिन्होंने बिहार में पहली बार 4 चरणों में चुनाव करवाया था।

भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का नि’धन, देश में की थी मतदाता पहचान पत्र की शुरुआत