बाघिन अवनि को मारे जाने पर मेनका गांधी भेजा CM को पत्र,वन मंत्री मुनगंटीवार को हटाने की अपील की

Maneka Gandhi

New Delhi: Maharashtra में बाघिन ‘अवनी’ के मारे जाने के मामले ने अब राजनीति तूल पकड़ लिया है। इस कड़ी में केंद्रीय मंत्री maneka Gandhi ने मेनका गांधी ने CM Devendra Fadnavis को चिट्ठी लिखी। मेनका गांधी ने चिट्ठी में लिखा कि बाघिन अवनी की मौत की जिम्मेवारी फिक्स करते हुए मंत्री सुधीर मुनगंटीवार को वन और पर्यावरण मंत्रालय से हटाया जाना चाहिए। इस पर मेनका गांधी का कहना है कि बाघिन अवनी को बचाया जा सकता था अगर सुधीर मुनगंटीवार संवेदनशील होते।

आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री maneka Gandhi ने इस मामले को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। मेनका गांधी ने कहा कि जब वन विभाग नहीं चाहता था तो फिर सरकार के एक मंत्री की शह पर बुलाकर बाघिन की हत्या क्‍यों करवाई गयी। वह इसकी सचाई उजागर करके ही रहेंगी। जिसके बाद CM Devendra Fadnavis का बयान सामने आया है। Devendra Fadnavis ने कहा कि यह हमारे लिए भी दुखद है कि बाघिन अवनि को मारने का फैसला लिया गया था। हम अभी भी इस मुद्दे की जांच करेंगे कि प्रक्रिया में कहीं कोई चूक हुई है या नहीं। मेनका जी के शब्द कठोर थे, लेकिन हमें उनकी भावनाओं को समझना चाहिए क्योंकि वह एक पशु प्रेमी हैं।

वहीं आज सुबह Rahul Gandhi ने बाघिन ‘अवनी’ के मामले को लेकर एक ट्वीट किया। राहुल गांधी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का एक संदेश ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि किसी देश की महानता की पहचान इस बात से की जा सकती है कि वहां जानवरों के प्रति कैसा व्यवहार किया जाता है। आपको बता दें कि महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के पांढरकवड़ा के वन क्षेत्र में बाघिन अवनि को शुक्रवार देर रात मार दिया गया।

उसे आदमखोर घोषित कर दिया गया था क्योंकि उसने 14 लोगों को अपना शिकार बनाया था। उसे खत्म करने के लिए 200 लोगों की टीम लगाई गई थी। इस सितंबर महीने में हाई कोर्ट ने कहा था कि उसे गोली मारी जा सकती है, जिसके बाद लोगों ने उसे माफी देने की ऑनलाइन कैंपेन #Justice4TigressAvni शुरू किया था। इस मामले को लेकर सितम्बर महीने में हाईकोर्ट ने कहा था कि उसे गोली मारी जा सकती है। इसके बाद उसे माफी देने की ऑनलाइन याचिकाओं की बाढ़ आ गई थी। इस बाघिन को नवीनतम तकनीक की मदद से पकड़ने के लिए तीन महीने से ज्यादा समय लगा।

अधिकारियों ने बताया, दूसरी बाघिन के मूत्र और अमेरिकी इत्र को इलाके में छिड़का गया, जिसे सूंघते हुये अवनि वहां आ पहुंची। उन्होंने कहा कि वन अधिकारियों ने पहले उसे जिंदा पकड़ने का प्रयास किया, पर घना जंगल और अंधेरा होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका, आखिरकार एक गोली दागी गई और बाघिन ढेर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *