आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी का विरोध करने पर पति ने तेजाब पिलाकर की पत्नी की हत्या

 New Delhi: इंडियन प्रीमियर लीग ( आईपीएल ) मैचों के दौरान सट्टे लगाने का विरोध करने पर एक 32 वर्षीय महिला की उसके पति और परिवार के अन्य 4 सदस्यों ने हत्या कर दी। यह घटना पश्चिम बंगाल के मालदा शहर की है। महिला के पिता ने आरोप लगाया कि आईपीएल सट्टे का विरोध करने पर परिवार ने उसकी हत्या की। महिला का नाम अर्पिता दास गुप्ता है।

पुलिस के अनुसार बुधवार रात को महिला को अचेत अवस्था में पड़ोसियों द्वारा मालदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल ( एमएमसीएच ) ले जाया गया। अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया। इंग्लिश बाजार के इंस्पेक्टर प्रभारी शांतनु मित्र ने बताया कि उन्हें कुछ व्यक्तियों के खिलाफ शिकायत मिली है लेकिन सभी आरोपी घटना के बाद भाग गए। उनकी गिरप्तारी के लिए खोज की जा रही है।

मृतक अर्पिता की शादी छह साल पहले सुवेंदु दास गुप्ता से हुई थी। घटना के बारे में पता चलने पर अर्पिता के पिता संतोष दत्ता ने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, अपनी शिकायत में मृतक महिला के पिता ने अपने दामाद और परिवार के अन्य सदस्यों का जिक्र किया है। उन्होंने दावा किया कि बुधवार रात को जुए को लेकर अर्पिता और सुवेंदु के बीच झगड़ा हुआ था। उस समय सुवेंदु और परिवार के अन्य सदस्यों ने अर्पिता को तेजाब पीने को मजबूर किया था जिससे उसकी मौत हो गई।

दत्ता ने बताया कि बुधवार देर रात को उनकी पोती ने बताया कि उसकी मां घर के फर्श पर बेहोश पड़ी हुई थीं। जब तक वे वहां पहुंचे अर्पिता को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था।
दत्ता ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनका दामाद एक जुआरी और नशीले पदार्थों का आदी भी है। इस साल उसने आईपीएल मैचों के लिए सट्टेबाजी में 2 लाख रुपये से अधिक का निवेश किया है। उन्होंने सुना कि उसने सट्टेबाजी के लिए ऊंची ब्याज दर पर पैसा उधार लिया था और ऋण चुकाने में विफल रहा था।

पुलिस के अनुसार, सुवेंदु दास गुप्ता अपने लेनदारों द्वारा फंसाए जाने के बाद से घर पर नहीं रहते थे। वह आमतौर पर देर रात घर लौटता था।