प.बंगाल : CM ममता ने नए ट्रैफिक नियमों को लागू करने से किया मना,कहा इससे लोगों पर पड़ेगा बोझ

New Delhi : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नए मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 को अपने राज्य में लागू करने से मना कर दिया है। ममता सरकार का कहना है कि राज्य में इस अधिनियम को लागू कर दिया जाता है तो भारी ट्रैफिक जुर्माने के कारण राज्य के आम नागरिकों पर बोझ पड़ेगा।

सीएम ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि “मैं अभी इस मोटर वाहन अधिनियम को लागू नहीं कर सकती, क्योंकि हमारे सरकार के अधिकारियों की राय है कि अगर हम इसे लागू करते हैं तो यह लोगों पर भारी पड़ेगा।”

आपको बता दें पश्चिम बंगाल के अलावा मध्यप्रदेश और राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने भी अपने यहाँ इस क़ानून को लागू करने से पहले ही मना कर चुके हैं। वहीं गुजरात की भाजपा सरकार ने भी मंगलवार को केंद्र के नए कानून मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 में बदलाव कर दिया है। जिसके तहत गुजरात सरकार ने राज्य के लोगो को राहत देते हुये ट्रैफिक नियम तोड़ने पर जुर्माने की राशि में 50 प्रतिशत तक की भारी कटौती की है।

केंद्र सरकार के नए ट्रैफिक जुर्माने का देश की प्रमुख विपक्षी पार्टियाँ और आम नागरिक लगातार विरोध जता रहे है. उन्होंने इस भारी भरकम जुर्माने को शोषणकारी और सरकार का राजस्व बढ़ाने वाला बताया है। इसी को लेकर बुधवार को भारतीय युवा कांग्रेस (IYC) ने मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 में बढ़े हुये जुर्माने और प्रावधानों के खिलाफ सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

इससे पहले बढ़े हुये जुर्माने पर केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि नए नियम के चलते जो जु’र्माने लग रहे हैं वह सरकार की आय बढ़ाने के लिए नहीं है। इस नियम के माध्यम् से सरकार सड़क दु’र्घ’टना में होने वाली 15 लाख मौ’तों को रोकना चाहती है।