महाभारत में वर्णित इन नीतियों का पालन करने से धन संबंधी परेशानियां हो सकती हैं दूर

New Delhi : महाभारत में बताई बातों का ध्यान रखने पर कोई भी व्यक्ति परेशानियों से बच सकता है। कौरवों ने गलतियां की थीं जिनकी वजह से वे नष्ट हो गए। उन्हीं से सीख लेकर हमें ऐसी गलतियां करने से बचना चाहिए। आइए जानते है कुछ ऐसी बातें, जो हमें बुरे कर्म करने से बचा सकती है।

महाभारत में दुर्योधन ने छल से पाड़वों का राज छीन लिया था लेकिन उस धन का उपयोग वो नहीं कर सके थे। इसलिए अपने सुख के लिए किसी को धोखा नहीं देना चाहिए। स्थाई लक्ष्मी की प्राप्ति केवल परिश्रम और ईमानदारी से ही की जा सकती है। उससे ही स्थाई लाभ मिलता है और घर में बरकत बनी रहती है। वहीं जो लोग गलत कामों से धन कमाते हैं, वे कई प्रकार की बीमारियों और परेशानियों का सामना करते हैं। गलत काम को कर के कुछ वक्त का सुख तो प्राप्त किया जा सकता है लेकिन वो हमेशा नहीं रह सकता।

धन होना ही काफी नहीं होता उसका सही प्रबंधन या निवेश करना भी उतना ही आवश्यक है। दुर्योधन ने धन का प्रबंधन पांडवों को नष्ट करने के लिए किया और खुद ही समाप्त हो गया था। अगर हम धन का सही प्रबंधन करेंगे, सही कामों में पैसा लगाएंगे तो, निश्चित रूप से अच्छा लाभ मिल सकता है। सही कामों में लगाए गए धन से हमेशा लाभ मिलता है जबकि, जो लोग जल्दी-जल्दी लाभ कमाने के चक्कर में धन का प्रबंधन गलत तरीके से करते हैं, वे आखिर में दुखी होते हैं।