किसानों पर गो’लियां चलवाने वाले शिवराज बाढ़ पीड़ितों पर बहा रहे हैं घड़ियाली आंसू- कांग्रेस

New Delhi: मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों बाढ़ प्रभावित मंदसौर में लोगों का हाल लेने पहुंचे हुए हैं। जिले के हालातों पर वह जमकर कमलनाथ सरकार को कोस रहे हैं। बाढ़ प्रभावितों का हाल लेने के नाम पर शूरू हुआ उनका ये दौरा अब राजनीतिक रंग में रंगता जा रहा है। ये वही मंदसौर है जहां साल 2017 में शिवराज सरकार ने किसानों के धरने प्रदर्शन पर गोलिया चलवाईं थी जिसमें कई किसान मारे गए थे। आज जब वो यहां बाढ़ पी़ड़ितों से मिलने पहुंचे तो सत्ता पक्ष उन पर तंज कस रहा है। राज्य के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है कि किसानों पर गोलियां चलवाने वाले शिवराज आज यहां घड़ियाली आंसू बहाने आ गए हैं।

कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश सरकार में लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा, “शिवराज सिंह को मंदसौर की भूमि पर आने का अधिकार नहीं है। किसानों पर गोलियां चलाने के बाद, वह एक बार वहां गए थे तब भी उन्होंने घड़ियाली आंसू बहाए थे वही आज कर रहे हैं। ”

राज्य सरकार द्वारा किसानों को राहत राशि प्रदान करने के बारे में पूछे जाने पर, वर्मा ने कहा, “हम अपने दम पर किसानों को पैसा देंगे क्योंकि हम जानते थे कि केंद्र सरकार हमारी मदद नहीं करेगी। साथ ही, कमलनाथ सरकार राज्य सरकार की रक्षा करने में सक्षम है। । ”

2017 में, मंदसौर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुआ, क्योंकि किसानों ने अपनी उपज के लिए कर्ज माफी और बेहतर कीमतों की मांग की थी। आंदोलन के कारण कई किसानों की जान चली गई, राजनीतिक दलों की आलोचना हुई। स्थिति ने जिला अधिकारियों को धारा 144 लागू करने के लिए मजबूर किया और हिंसा प्रभावित जिले का दौरा करने से प्रमुख हस्तियों को प्रतिबंधित कर दिया।