लॉकडाउन खुला और लोग सी-बीच पर दौड़ गये, चीन में बच्चों का तीन बार लिया जा रहा टेंपरेचर

New Delhi : सोमवार को हांगकांग के क्राउड रीपल्स बीच पर बड़ी तादाद में लोग मौसम का मजा लेते दिखे। इस पर हांगकांग के अधिकारियों ने कहा – लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। कोरोना वायरस के कारण हांगकांग के शा टिन रेस कोर्स में लोगों के आने पर पाबंदी लगाई गई है, लेकिन यहां हो रही प्रतियोगिताओं पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है। 12 अप्रैल को यहां ताई कोक सुई हैंडिकैप भी रेस हुई। हांगकांग में ट्रेनों की सफाई के लिए रोबोट तैनात किए गए हैं।

चीन में हॉस्पिटल का निर्माण

चीन में तकरीबन ढाई महीने तक चले लॉकडाउन के खुलने के बाद आम जनजीवन पटरी पर लौट रहा है। बीजिंग में लोग अपने काम पर जाने की इजाजत दी गई है, हालांकि लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को मानने के लिए भी कहा गया है। चीन का वुहान जहां से कोरोनावायरस फैलना शुरू हुआ था, वहां भी लॉकडाउन खोल दिया गया है, जिसके बाद लोग पार्कों में सैर करते नजर आ रहे हैं। चीन में बड़ी संख्या में स्कूल खुल चुके हैं। बच्चे मास्क पहनकर आते हैं। कक्षाओं में जाने के लिए तय रास्ते बनाए गए हैं, ताकि गैलरी में बच्चों की भीड़ न हो। कई स्कूलों में मुफ्त मास्क बांटे जा रहे हैं और एक क्लास में 30 से ज्यादा बच्चे नहीं बैठ रहे हैं। दिन में तीन बार बच्चों का तापमान नोट जा रहा है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद चीन से पहली बार बुरी खबर भी आई है। सोमवार को चीन में 108 नए कोरोना केस आए। यह एक महीने सबसे खराब आंकड़ा है।
अमेरिका में कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा 5.60 लाख केस आए हैं। इसके बावजूद अमेरिका में पूर्ण लॉकडाउन नहीं घोषित किया गया है। लोगों को सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग मेनेटेन करने और ज्यादा से ज्यादा घरों में रहने को कहा गया है। हालांकि ज्यादातर राज्य सरकारों ने खुद से लॉकडाउन जरूर लगाए हुए हैं। ऐसे में अमेरिका में वॉलमार्ट ने अपने कैश काउंटर्स पर ‘स्नीज गार्ड्स’ लगाए हैं, जो कर्मचारियों को ग्राहकों की छींक से बचाते हैं। टार्गेट ने तीन हफ्तों के लिए सामान रिटर्न या एक्सचेंज करना बंद कर दिया है। लगभग सभी चेन्स ग्राहकों की संख्या सीमित करने के लिए कदम उठा रही हैं।


ईरान में शनिवार से राजधानी तेहरान को छोड़कर देश में छोटे बिजनेस सेंटर्स को खोलने की अनुमति दे दी गई है। यहां सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले दो तिहाई कर्मचारी लौट आए हैं। यहां अब तक संक्रमण के 71,686 मामले सामने आए हैं। स्पेन लॉकडाउन के एक महीने बाद पाबंदियों में ढील देने की तैयारी कर रहा है। यहां रविवार को कोरोना के 3800 नए केस आए थे। अब तक 1.69 लाख केस आए हैं। कोरोना से अमेरिका के बाद स्पेन सबसे अधिक प्रभावित देश है। लॉकडाउन से स्पेन की अर्थव्यवस्था एक तरह से रुक गई है, जिसे सरकार गति देने की कोशिश कर रही है। ताकि रोजगार संकट को दूर किया जा सके। डेनमार्क में 15 अप्रैल से स्कूल खोलने की तैयारी है, लेकिन यहां अभी कड़े प्रतिबंध लागू रहेंगे। 10 मई तक 10 से ज्यादा लोगों के एक जगह पर इकट्‌ठा होने पर रोक रहेगी। सभी चर्च, सिनेमाघर और शॉपिंग सेंटर भी बंद रहेंगे। अगस्त तक सभी त्योहार और बड़े समारोह बंद रहेंगे। प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन ने कहा कि डेनमार्क की सीमाएं भी सील रहेंगी। 58 लाख की आबादी वाला डेनमार्क पहला यूरोपीय देश है, जिसने 13 मार्च को अपनी सीमाएं सील की थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− one = 9