सादगी की सीख- दूल्हा IAS, दुल्हन IAS और सिर्फ 500 रुपये में हो गई थी सादगी भरी शादी

New Delhi : कोरोना आपदा को न्यू नॉर्मल मानते हुये अब फिर से शादियों का सीजन शुरू होने जा रहा है। फिलहाल तो कोरोना की वजह से शादी समारोह में कम ही लोग शामिल हो रहे हैं, फिर भी लोग लाखों करोड़ों रुपये बहा दे रहे हैं। लोग शादियों में जमकर रुपया बहा रहे हैं, सिर्फ इसलिये कि बस लोगों को अपनी शान दिखानी है। ऐसे लोगों के लिये हम आज एक ऐसी शादी की कहानी लेकर आये हैं जो किसी की भी आंखे खोल सकती है। बताती है कि कैसे सादगी से शादी की जा सकती है। बिना दिखावे के। कोरोना काल में शादी करनेवाले लोगों को तो इस पर विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है।

कहानी साल 2016 की है और जगह थी मध्यप्रदेश का भिंड। दूल्हा IAS और दुल्हन भी IAS और सिर्फ 500 रुपये में शादी हो गई। इस अनोखी शादी के गवाह बने भिंड़ कलेक्टर इलैया टी राजा जो खुद भी IAS हैं। 2013 में सिविल सर्विसेज परीक्षा पास करने वाले आशीष वशिष्ठ और सलोनी सिडाना ने बेहद ही सादे अंदाज में भिंड कोर्ट में शादी कर ली थी।
उस समय आशीष वशिष्ठ गोहद में एसडीएम थे तो वहीं सलोनी इन दिनों आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा में पोस्टेड थीं। फिलहाल तो दोनों मध्य प्रदेश में ही अलग-अलग विभागों का काम देख रहे हैं। वैसे दोनों की पहली मुलाकात मसूरी की लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में ट्रेनिंग के दौरान हुई और फिर उसके बाद दोनों ने शादी का फैसला किया।
हालांकि ट्रेनिंग पूरी होते ही दोनों को अलग-अलग पोस्टिंग मिली। जहां आशीष को मध्यप्रदेश में पोस्टिंग मिली तो वहीं सलोनी को आंध्रप्रदेश जाना पड़ा। फिर दोनों भिंड में मिले और दोनों ने शादी कर ली। तो दोस्तों इस कहानी को अपने दोस्तों तक जरूर पहुंचाइये और पैसा बर्बाद होने से बचाइये।

शादी में किसी तरह के दहेज आदि का लेन देने नहीं हुआ सारा काम सादगी के साथ किया गया। शादी की खुशी में सिर्फ कलेक्टोरेट में मिठाई बांटी गई। कलेक्टर ने अपने ऑफिस में दूल्हा-दुल्हन और उनके परिजनों को टी-पार्टी दी थी। आशीष मूलत: राजस्थान के अलवर और सलोनी पंजाब की जलालाबाद की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ sixty eight = 77